विवाहिता ने फांसी लगाकर दी जान, पिता का आरोप-दहेज के लिए ससुराल वालों ने किया प्रताड़ित

फर्रुखाबाद. फतेहगढ़ कोतवाली क्षेत्र के गांव बुढ़नामऊ निवासी हिमांशु की पत्नी नीलू ने देर रात्रि छत में लगे कुंडे से संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंचे मायके पक्ष के लोगों ने दहेज हत्या का आरोप ससुरालियों पर लगाया है। मामले पर मृतका के पिता जगजीवन ने ससुरालियों के ऊपर दहेज के लिए हत्या कर शव को फांसी पर लटका देने का आरोप लगाया है। फतेहगढ़ कोतवाली प्रभारी निरीक्षक को दिए गए प्रार्थना पत्र में मृतका के पिता ने कहा है कि उसने अपनी पुत्री नीलू की शादी हिमांशु पुत्र सर्वेश चंद्र निवासी बुढ़नामऊ के साथ पिछले वर्ष 16 अप्रैल को हिंदू रीति रिवाज के अनुसार की थी शादी में। शादी में दहेज भी दिया गया है।

दहेज के लिए किया प्रताड़ित

जगजीवन ने कहा कि शादी में दिए गए दान दहेज से पति हिमांशु, सास मनोरमा, ससुर सर्वेश चंद्र, देवर सुधांशु संतुष्ट नहीं थे और मेरी पुत्री नीलू से अतिरिक्त दहेज में 2 लाख रुपया व मोटरसाइकिल की मांग करते थ। मेरी पुत्री द्वारा दो लाख व मोटरसाइकिल देने से मना करने पर उसे मारते पीटते तथा प्रताड़ित करते थे मेरी पुत्री जब घर आती तो अतिरिक्त दहेज की मांग ब प्रताड़ित करने की बात बताती थी। मैंने कई बार अपनी पुत्री की ससुराली जनों को समझाया लेकिन वे लोग बगैर अतिरिक्त दहेज के लिए मानने को तैयार नहीं हुए।

आरोपी ससुराल वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

इस मामले में पुलिस अधीक्षक डॉ. अनिल कुमार मिश्रा ने बताया कि गांव बोलना मऊ निवासी नीलू पुत्री जगजीवन ने रात्रि लगभग 11 बजे छत के गुंडे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। वहीं मृतका के पिता जगजीवन की तहरीर पर आरोपी ससुराल वालों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

ये भी पढ़ें: गंगा को प्रदूषित करने वालों के खिलाफ सख्त हुई योगी सरकार, प्रदूषण फैलाने वाली कंपनी पर तीन करोड़ जुर्माना

ये भी पढ़ें: महंगा हो जाएगा यूपी में आय, जाति और राशन कार्ड का आवेदन, 65 हजार सीएससी संचालकों की बढ़ेगी आय



Advertisement