बारूद के ढेर पर खड़ा है आजमगढ़, शहर के मध्य से भारी मात्रा में पटाखे बरामद

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. 18 मार्च 2019 को शहर के मुकेरीगंज में पटाखा फैक्ट्री में लगी आग में दस से अधिक लोगों को जान गवांनी पड़ी थी लेकिन इस हादसे से न तो कारोबारियों ने सबक लिया और ना ही प्रशासन जागा। परिणाम है कि एक बार फिर दिपावली से पहले पटाखों के अवैध भंडारण का खेल जारी है। उसी मुकेरीगंज से पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर छापेमारी कर भारी मात्रा में पटाखे बरामद किया है। इस दौरान तीन लोग हिरासत में भी लिए गए लेकिन पुलिस अभी उनके नाम का खुलासा नहीं कर रही है।

बता दें कि शहर में पटाखों का अवैध भंडरण कोई नई बात नहीं है। 18 मार्च 2019 को शहर कोतवाली क्षेत्र के मुकेरीगंज में अवैध रूप से घर में गोदाम बनाकर रखे गए पटाखों में आग लगने से बड़ा हादसा हुआ था। उस दौरान दस से अधिक लोगों की झुलसने से मौत हो गयी थी। जबकि कई लोग गंभीररूप से झुलसकर महीनों अस्पताल में थे।

इसके बाद भी इस बार दीपावली से पूर्व पुलिस द्वारा अवैध भंडारण रोकने के लिए कोई अभियान नहीं चलाया गया। रविवार की रात पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मुकेरीगंज में कई स्थानों पर दीपावली के मद्देनजर अवैध रूप से पटाखों का भंडारण किया गया है। इस सूचना के बाद पुलिस जागी और रात नौ बजे शहर कोतवाली पुलिस ने मुकेरीगंज स्थित कई मकानों में छापा मारा।

इस दौरान मुहल्ले में तीन जगहों पर भारी मात्रा में अवैध रुप से भंडारण किए गए पटाखे बरामद हुए। पटाखों को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। वहीं तीन लोगों को हिरासत में भी लिए जाने की सूचना है लेकिन महकमा अभी नाम नहीं खोल रहा है।

एसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि आबादी के बीच अवैध रुप से पटाखा स्टोर करने से हादसे की आशंका होती है। मुकेरीगंज मुहल्ले में पूर्व में पटाखों के चलते बड़ा हादसा हो चुका है। इसके बाद भी इस मुहल्ले में पटाखों के अवैध भंडारण की सूचना मिली। इस आधार पर छापा मारा गया। कार्रवाई अभी जारी है। भारी मात्रा में पटाखे बरामद भी हुए हैं लेकिन अभी कार्रवाई जारी होने के चलते सही आंकड़ा बता पाना संभव नहीं है। कार्रवाई पूर्ण होने के बाद पूरी जानकारी उपलब्ध कराई जायेगी।

BY Ran vijay singh



Advertisement