अयोध्या में दीपोत्सव आज से शुरू, राम की पैड़ी पर बनेगा नया वर्ल्ड रिकॉर्ड, राज्यपाल और सीएम योगी होंगे शामिल

अयोध्या. रामनगरी अयोध्या में रामलला के सामने पहला दीया जलाकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज भव्य दीपोत्सव का शुभारंभ करेंगे। अयोध्या में श्रीराम मंदिर के भूमि पूजन के बाद इस बार की दीपावाली को और ज्यादा खास बनाने की तैयारी है। अयोध्या दीपोत्सव को लेकर सारी तैयारियां पूरी हो गई हैं। 11 नवंबर से ही दीपोत्सव की शुरुआत हो गई है। राम की पैड़ी पर भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम 13 नवंबर को आयोजित होगा। राम जन्मभूमि परिसर में पहली बार चार हजार से ज्यादा दीपक जगमगाएंगे। वहीं राम की पैड़ी पर साढ़े पांच लाख दीपक जलाकर नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की तैयारी है। इस बीच 11 नवंबर से ही अयोध्या की सीमा सील कर दी गई है।

राज्यपाल और मुख्यमंत्री रहेंगे मौजूद

दोपहर तीन बजे प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या एयरपोर्ट पहुंचेंगे। इसके पहले दोपहर 12 बजे साकेत महाविद्यालय से रामकथा पार्क तक भगवान श्रीराम के जीवनवृत्त पर 11 झांकियां निकाली जाएंगी। अयोध्या आगमन के बाद राज्यपाल व मुख्यमंत्री 3:30 रामलला के दर्शन करेंगे। मुख्यमंत्री रामलला के सामने पहला दीया जलाएंगे। इसके बाद शाम 4 बजे वह राम जन्मभूमि परिसर से रवाना होंगे। यहां से वह रामकथा पार्क पहुंचेंगे और भगवान श्रीराम और माता सीता का स्वागत करेंगे। इसके बाद राज्याभिषेक किया जाएगा। राज्यपाल और मुख्यमंत्री शाम 5 बजे सरयू घाट पर आरती में शामिल होंगे। आरती के बाद दीपोत्सव का शुभारंभ होगा। मुख्यमंत्री रात 8 बजे सर्किट हाउस पहुंचेंगे और यहीं पर रात्रि विश्राम करने के बाद 14 नवंबर की सुबह गोरखपुर के लिए रवाना हो जाएंगे।

दिखेंगी 11 झांकियां

13 नवंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में राम कथा पार्क पर भगवान श्री राम, लक्ष्मण और सीता पुष्पक विमान हेलीकॉप्टर से अयोध्या आएंगे। जहां उनका स्वागत होगा। भरत मिलाप का कार्यक्रम होगा, राज्याभिषेक होगा। दीपोत्सव के दौरान झांकियां भी लगाई जाएंगी। जिसमें 11 झांकियों के माध्यम से भगवान राम के जन्म से लेकर लंका दहन तक के प्रसंग दिखाए जाएंगे। इनमें 2 झांकियां विशेष मानी जा रही हैं। पहली झांकी अहिल्या उद्धार के माध्यम से नारी सशक्तिकरण को समर्पित है, तो दूसरी झांकी हनुमान जी के लंका के दहन प्रसंग की होगी। जिसके माध्यम से राज्य सरकार द्वारा आपराधिक तत्वों के खिलाफ हो रही कार्रवाई का संदेश जाएगा।

बाराबंकी के दीयों से जमगम होंगे अयोध्या के घाट

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में चैनपुरवा में बदलाव की मुहिम की गूंज अयोध्या और लखनऊ सहित कई अन्य जिलों में सुनाई देगी। अवैध शराब के कारोबार से तौबा कर तरक्की की राह चुनने वाली यहां की स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के बनाए दीयों से मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की नगरी का चौथा दीपोत्सव और लक्ष्मणनगरी भी जगमग होगी। अयोध्या में दीपोत्सव के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी इन्हीं इको फ्रेंडली दीयों को प्रज्जवलित करेंगे। सूरतगंज के चैनपुरवा गांव में महिलाएं बीवैक्स से कैंडल दीये तैयार कर रही हैं। इसमें सुंदरा, सीता, रीना, जगराना, बसंती सहित 25 महिलाएं को रंगीन मोमबत्ती बना रही हैं। बाराबंकी में दीपोत्सव से मिले प्रोत्साहन के बाद महिलाएं अयोध्या और अन्य शहरों में आपूर्ति के लिए करीब तीन लाख दीये तैयार करने में जुटी हैं। इनमें से पचास हजार दीयों की आपूर्ति अयोध्या को की गई है।



Advertisement