प्रदूषण से बचना चाहते हैं तो घर में लगाइये गुलदाउदी और जरबेरा के पौधे, ऑक्सीजन देने के साथ बनाएंगे शुद्ध हवा

लखनऊ. बढ़ते वायु प्रदूषण से लखनऊ, कानपुर, वाराणसी समेत दिल्ली एनसीआर की आबोहवा खराब हो रही है। आगरा, कानपुर जैसे कई शहरों का एक्यूआई 400 के पार पहुंच गया है, जो कि बेहद खतरनाक स्थिति को दर्शाता है। हर साल दिवाली से पहले नवंबर महीने में प्रदूषण का स्तर बढ़ता है। इसके बचाव के लिए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन हवा में शुद्धता नहीं आ रही। ऐसे में आप चाहें तो अपने घर में पौधों को रख सकते हैं जो न केवल आपको प्रदूषण से बचाएंगे बल्कि अच्छी सेहत भी देंगे। ये पौधे घर पर गमले में लगाकर अपने बालकनी या घर के बाहर रख सकते हैं।

हवा को शुद्ध करने वाले कई प्लांट आते हैं जैसे गुलदाउदी, जरबेरा। ये पौधे शीत ऋतु में काफी मात्रा में फूल देते हैं। इन दोनों पौधों को आसानी से घर के अंदर लगाया जा सकता है और यह हवा को भी शुद्ध करते हैं। ये कई तरह के हानिकारक रासायनिक तत्वों को सोक लेते हैं। गुलदाउदी के फूल को तीन से चार दिन में कुछ समय के लिए धूप दिखानी पड़ती है। इसी तरह जरबेरा भी हवा को शुद्ध करने में मदद करता है। जरबेरा का फूल गेंदे के फूल से थोड़ा बड़ा होता और ट्राइ क्लोरोइथाइलीन को खत्म करता है। दोनों ही पौधों का फूल देने का समय दिसंबर से फरवरी तक है।

प्रदूषण रोकने वाले अन्य प्रमुख पौधे

एडिएंटम रेडिऐनम (हंस राज)

यह हरे रंग का छोटी पत्तियों वाला पौधा होता है। इसे इंडोर में आसानी से लगाया जा सकता है।

एपिप्रेमनम ओरियम

यह हरे-सफेद और कुछ पीले रंग में दिल के आकार के पत्तों वाला होता है। इसे सीधे धूप में रखने की जरूरत नहीं होती है। मिट्टी थोड़ा सूख जाने पर ही पानी डाला जाता है।

ये भी पढ़ें: पानी की टंकी पर लगेगा ताला, यूपी सरकार ने कहा सीढ़ीयों पर लगा दें ताला ताकि न कर पाए कोई प्रदर्शन

ये भी पढ़ें: महिला के कारनामों से परेशान ग्रामीणों ने एसडीएम को लिखा पत्र, कहां दूसरे शहर बसने को होंगे मजबूर, पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप



Advertisement