एक दिन की थानेदार बेटी के चालान काटने पर हंगामा करने वाले सपा नेता काे एसपी ने किया गिरफ्तार

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

रामपुर ( rampur news in hindi ) एक दिन के लिए थानेदार बनी बेटी ने चालान काटने के लिए नाम पूछा ताे सपा नेता ( SP Leader )
बिफर गए। बिफरे सपा नेता ने हंगाम कर दिया और अफसरों के साथ भी तनातनी करने लगे। इसके बाद एसपी ने मुकदमा दर्ज कर सपा नेता काे उनके ड्राइवर के साथ गिरफ्तार कर लिया। यह अलग बात है कि बाद में दोनों को थाने से ही जमानत दे दी गई।

यह भी पढ़ें: कोरोना संक्रमण को रोकने की कमान अब पुलिस ने संभाली, देखें वीडियो

मिशन शक्ति के तहत शुक्रवार काे प्रदेशभर में एक अभियान चलाया गया था जिसमें मेधावी छात्राओं को पुलिस की कार्यप्रणाी समझाई गई थी और उन्हे एक दिन का थानेदार बनाया गया था। इसी क्रम में रामपुर में भी सिविल लाइन थाने में ग्रीन वुड स्कूल की छात्रा इकरा-बी काे एक दिन की थानेदार बनाया गया था। इकरा-बी पुलिस टीम ( rampur police )के साथ मालगाेदाम चाैराहे पर वाहनों की चेकिंग कर रही थी।

यह भी पढ़ें: कारतूस के खोखे लेकर अपनी ही सरकार में धरने पर बैठे पूर्व विधायक, देखें वीडियो

इसी दाैरान एक स्कॉर्पियों कार काे बेटी इकरा ने रुकवा लिया। इस कार में दाे लाेग सवार थे जिन्हाेंने मास्क नहीं पहना था। इस कार में कादरपुर निवासी शिवचरण कश्यप और उनका चालक रजपुरा निवासी अमित कुमार सवार थे। मास्क ना लगाने पर नामित थानेदार ( छात्रा ) इकरा-बी ने नाम पूछा ताे सपा नेता भड़क गए। इस दाैरान अफसरों के साथ सपा नेता की बहस हाे गई।

यह भी पढ़ें: युवती को ले जा रहे युवक की सारे राह पिटाई, देखें वीडियो

इसके बाद मामला गरमाया ताे उनकी कार की तलाशी ली गई। कार में कई डंडे रखे हुए थे। इस पर पुलिस उनकी कार काे थाने ले गई। इस दाैरान सपा नेता का गुस्सा सातवे आसमान पर पहुंच गया और खुद काे जनप्रतिनिधि बताते हुए उन्हाेंने हंगामा कर दिया। इसके बाद पुलिस उन्हे थाने ले गई और दाेनाें के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। हालांकि बाद में दाेनाें काे थाने से ही जमानत दे दी गई।

यह भी पढ़ें: बुलंदशहर का लाल 'कुलदीप' गलवान में शहीद

शिवचरण कश्यप पर सपा में क्या जिम्मेदारी है यह ताे पता नहीं चल सका लेकिन वह बार-बार खुद काे सपा नेता बताकर पुलिस पर राैब गालिब कर ना चाह रहे थे। एसपी शगुन गाैतम ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि कार सवार दाेनाें युवकों ने मास्क नहीं पहना था। चालान काटने के लिए नाम पूछा तो हंगामा कर ने लगे। दाेनाें के खिलाफ सरकार कार्य में बाधा डालने के आराेपाें में मुकदमा दर्ज किया गया है।



Advertisement