बेटी की तलाश में दर-दर भटक रहा बेबस पिता, मदद नहीं मिलने पर करने चला आत्मदाह

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। 'बेटी बचाओ, बेटी पढाओ' और महिलाओं की सुरक्षा के लिए मिशन शक्ति अभियान चलाने वाली भाजपा सरकार में बेटियों और उसके परिवार की क्या हालत हो रही है। इसकी बानगी मंगलवार को एसएसपी कार्यालय में देखने को मिली। जहां अपह्रत बेटी की तलाश में भटक रहे पिता की जब कहीं सुनवाई नहीं हुई तो उसने अपने ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगाने की कोशिश की। एसएसपी कार्यालय पर तैनात पुलिसकर्मियों ने जब व्यक्ति को पेट्रोल डालते देखा तो उसे दौड़कर पकड़ लिया और पीड़ित को गाड़ी में बैठाकर ले गए।

यह भी पढ़ें : मथुरा के पास 7 हजार करोड़ रुपये की लागत से बसाया जाएगा वृंदावन के नाम का नया शहर

जानकारी के अनुसरा पीड़ित व्यक्ति अपनी पत्नी और बच्चों सहित एसएसपी से मिलने आया था। उसकी पत्नी ने बताया कि गत माह उनकी बेटी कंकरखेड़ा क्षेत्र से लापता हो गई थी। महिला ने बेटी के अपहरण का आरोप क्षेत्र के ही एक युवक पर लगाया। महिला का आरोप है कि वह बेटी की बरामदगी के लिए थाने में भी गई। लेकिन वहां पर किसी ने सुनवाई नहीं की, उल्टा डांटकर भगा दिया। इसके बाद वो पति के साथ कई बार एसएसपी कार्यालय में आ चुकी है। लेकिन इसके बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। महिला का आरोप है कि थाना पुलिस की मिलीभगत के चलते उसकी बेटी नहीं मिल रही है। महिला ने अपनी बेटी के साथ अनहोनी की आशंका जाहिर की।

यह भी पढ़ें: कार में युवक को जबरन उठाकर ले गए कुछ लोग, किडनैप समझ लोगों ने मचाया शोर, सच्चाई आई सामने तो उड़ गए होश

बताया जा रहा है कि पीड़ित परिवार फिर से एसएसपी से मिलने के लिए उनके कार्यालय पर पहुंचा था। लेकिन जब एसएसपी से मुलाकात नहीं हो सकी तो उसने बाहर जाकर बोतल से पेट्रोल निकालकर अपने ऊपर छिड़क लिया और आग लगाने का प्रयास किया। लेकिन इसी बीच मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे पकड़ लिया। व्यक्ति द्वारा पेट्रोल डाले जाने की घटना से हड़कंप मच गया। पुलिसकर्मी व्यक्ति को अपने साथ गाड़ी में बैठाकर ले गए।



Advertisement