अखिलेश सरकार में हुए रिवर फ्रंट घो’टाले में ब’ड़ी का’र्रवाई, सीबीआई ने किया इस शख्स को गिर’फ्तार

उत्तरप्रदेश में बीजेपी की सरकार आने के बाद से ही सीएम योगी आदित्यनाथ भृ’ष्टाचार और का’नून व्य’वस्था को लेकर काफी स’ख्त हैं. सत्ता में आने के बाद से ही उन्होंने साफ कर दिया था कि भृष्टाचार करने वालों की एक ही जगह होगी और वो है जे’ल. सूबे में पिछले काफी समय से सरकार की का’र्रवाई जारी है.

जानकारी के लिए बता दें सपा सरकार में लखनऊ के गोमती रिवर फ्रंट घोटा’ले में सीबीआई ने बड़ी का’र्रवाई की है. शुक्रवार को सीबीआई ने सिंचाई विभाग के तत्कालीन चीफ इंजीनियर रूप सिंह यादव को गि’रफ़्तार कर लिया है. सत्ता में आने के बाद ही सीएम योगी ने रिवर फ्रंट घो’टाले की जांच के आ’देश जारी कर दिए थे.

सीएम योगी के आदेश के बाद सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय ED ने अपनी का’र्रवाई शुरू कर दी है. ED ने मनी लां’ड्रिंग का मामला भी द’र्ज किया है साथ ही 8 में से 5 आरो’पियों से पूछताछ भी की है.

गौरतलब है कि सीबीआई की एन्टी कर’प्शन ब्रांच ने सीएम योगी के आदेश के बाद लखनऊ के गोमती नगर थाने में द’र्ज कराए गए मुक’दमे के आधार पर 30 नवंबर 2017 को नया मुक’दमा दर्ज किया था, इसमें सिंचाई विभाग के तत्कालीन मुख्य अभियंता (अब सेवानिवृत्त) गुलेश चंद, अखिल रमन, एसएन शर्मा व काजिम अली, तत्कालीन अधीक्षण अभियंता (अब सेवानिवृत्त) शिव मंगल यादव, कमलेश्वर सिंह व रूप सिंह यादव तथा अधिशासी अभियंता सुरेश यादव ना’मजद हैं.



Advertisement