युवती को शख्स पर झूठा केस लगाना पड़ा भारी, कोर्ट ने दिया ये आदेश !

रे’प करना एक बहुत बड़ा अ’प’रा’ध है. लेकिन इस बार कुछ ऐसा सच सामने आया है, जिससे सब है’रा’न हैं. जानकारी के लिए बता दें कि एक व्यक्ति पर लगे रे’प के आ’रोप झूठे पाए जाने के बाद चेन्नई की अदाल’त ने उस पी’ड़ि’त को 15 लाख रुपये का मु’आवजा देने का आदेश दिया है. बता दें कि उस लड़के के कॉलेज में पढ़ने वाली एक छात्रा ने उसपर ब’ला’त्का’र का आरो’प लगाया था. इसके बाद उस पर करीब सात साल तक केस चला.

अब मीडिया रिपोर्ट के अनुसार,  ब’लात्कार पी’ड़िता के डीएनए टेस्ट में साबित हुआ कि वह युवक आ’रोपी नहीं था. ऐसे में उसने मुआवजे के लिए मु’कदमा दायर किया, जिसमें उसने कहा कि झूठे ब’लात्कार के आ’रोप ने उनके करियर और जीवन को ब’र्बा’द कर दिया.

गौरतलब है कि उनकी इस याचिका का फैसला उनके हक में आया और को’र्ट ने मुआवजे के रूप में उस पीड़ि’त को 15 लाख रुपये का मु’आवजा देने का आदेश दिया है. कोर्ट ने यह मुआ’वजा महिला व उसके माता-पिता को झू’ठी शि’कायत द’र्ज कराने के कारण दिया है.



Advertisement