पत्रकार के मौत मामले में महिला दरोगा सहित अन्य पर अभियोग पंजीकृत

उन्नाव. महिला दरोगा के खिलाफ सदर कोतवाली में हत्या का मुकदमा पंजीकृत हुआ है। महिला दरोगा मृतक पत्रकार के घर अक्सर आया जाया करती थी। मां ने अपनी तहरीर पर बताया कि महिला दरोगा और उसका ड्राइवर फोन पर बुरा भला कहता था और देख लेने की धमकी देता था। तहरीर के अनुसार महिला दरोगा ने षड्यंत्र रच कर फोन पर पत्रकार को घर से बाहर बुलाया और रंजिश रचकर उसकी हत्या कर दी। शव को रेलवे लाइन के किनारे फेंक दिया।

 

मामला सदर कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत लखनऊ कानपुर रेल मार्ग की है। लक्ष्मी पांडे पत्नी सुशील कुमार पांडे निवासी ए बी नगर सदर कोतवाली ने कोतवाली में दी। तहरीर में बताया है कि उसके पुत्र सूरज पांडे की मित्रता पत्रकारिता के दौरान महिला दरोगा सुनीता चौरसिया से हो गई। सुनीता चौरसिया उसके घर भी कई बार आ चुकी है। 11 नवंबर को सुनीता चौरसिया के ड्राइवर ने फोन पर उनके पुत्र को भला बुरा कहा और देख लेने की धमकी दी ।उन्होंने बताया कि 12 नवंबर को फोन आया और उसके बाद सूरज घर से निकल गया। उसके बाद उसका मोबाइल भी स्विच ऑफ हो गया। कोतवाली पुलिस ने उन्हें लगभग 3:00 बजे सूरज के शव मिलने की जानकारी दी। मां की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने सुनीता चौरसिया, उसके ड्राइवर अमर सिंह व अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 /120 बी / 506 के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत कर लिया है।



Advertisement