यूपी में प्राइमरी स्कूल अभी खुलेंगे या नहीं, योगी सरकार ने लिया ये फैसला

लखनऊ. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के दौरान स्कूलों को खोलने को लेकर हर राज्य सरकार अपनी व्यवस्था के अनुरूप फैसला ले रही है। देश के कुछ राज्यों में एहतियात के साथ स्कूल खोल दिए गए हैं, तो कुछ राज्यों में अभी भी स्कूलों को खोला नहीं जा सका है। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की अगर बात करें तो यहां अभी फिलहाल सरकार स्कूलों को खोलने कोई विचार नहीं कर रही है। बेसिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने कहा है कि अभी सरकार ने स्कूल खोलने को लेकर कुछ भी तय नहीं किया है। सरकार जो भी फैसला लेगी, विभाग उसपर अपनी कार्रवाई को आगे बढ़ाएगा। हालांकि योगी सरकार ने साफ किया है कि बच्चों की जिंदगी के साथ कोई खिलवाड़ नहीं किया जा सकता। जब परिस्थितियां अनुकूल बनेंगी, सरकार इसको लेकर अपना फैसला लेगी।

नवंबर में नहीं खुलेंगे स्कूल

अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा रेणुका कुमार के मुताबिक 16 नवंबर से स्कूल खुलने की बात जो चल रही है वह एकदम गलत है। सरकार ने अब तक प्राइमरी और उच्च प्राइमरी स्कूल खोलने को लेकर कुछ भी आधिकारिक तौर पर फैसला नहीं किया है। हालांकि ये खबरें आ रही थीं कि उत्तर प्रदेश सरकार दीपावली के बाद से कक्षा 6 से 8 तक की क्लास शुरू कर सकती है। जबकि प्राइमरी स्कूलों को दिसंबर में खोलने की तैयारी हो रही है। लेकिन अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा रेणुका कुमार ने इन तमाम खबरों को सिरे नकार दिया है।

बनेंगे स्कूलों के लिए नियम

आपको बता दें कि 15 अक्टूबर से 10वीं और 12वीं की कक्षाएं शुरू हो चुकी हैं। 10वीं और 12वीं के विद्यार्थियों के लिए कुछ नियम तय हुए थे। जिसके तहत स्कूलों को अपने यहां दो बेड का एक मेडिकल रूम बनाना होगा। साथ ही मास्क, थर्मल स्कैनर, पल्स ऑक्सिमीटर, चिकित्सा सुविधा और मेडिकल विशेषज्ञ की मौजूदगी भी स्कूलों में अनिवार्य है। हालांकि अभी प्राइमरी और उच्च प्राइमरी स्कूल खोलने पर फैसला नहीं लिया गया है, लेकिन एक बात तो साफ है कि सरकार इसके लिए भी अलग नियम बनाएगी, उसके बाद ही स्कूल खोले जाएंगे।



Advertisement