हाथरस कांड: CRPF करेगी पीड़िता के परिवार की सुरक्षा, चप्पे-चप्पे पर तैनात किए गए 80 जवान

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

हाथरस। हाथरस कांड में जहां अभी तक लोगों की नजरें सीबीआई जांच रिपोर्ट पर टिकी हैं तो वहीं सीआरपीएफ की 239 बटालियन गांव में डेरा डाले रहेगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार अब पीड़ित परिवार के सुरक्षा मेंसीआरपीएफ के 80 जवान तैनात रहेंगे। इसके लिए रविवार को बटालियन गांव में पहुंच चुुकी है और चप्पे-चप्पे पर नजरें बनाई हुई है। दरअसल, सीआरपीएफ के कमांडर मनमोहन सिंह शनिवार को रामपुर से हाथरस पहुंचे थे। यहां उन्होंने थाना प्रभारी प्रभारी लक्ष्मण सिंह व सीओ ब्रह्मा सिह रोहई से मुलाकात कर पीड़ित परिवार से भी मिले। इसके साथ ही उन्होंने सीआरपीएफ जवानों के ठहरने के लिए जीएल महाविद्यालय का निरीक्षण भी किया।

यह भी पढ़ें: Hathras case Updates पूछताछ के बाद एक युवक काे अपने साथ ले गई सीबीआई टीम

निरीक्षण के बाद कमांडर मनमोहन सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि उन्होंने जनपद के कप्तान से मुलाकात कर डीएम से भी बातचीत की है। पीड़ित परिवार की सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ जवानों की तैनाती की गई है। उनके ठहरने की व्यवस्था जीएल महाविद्यालय में की गई है। पूरे गांव पर जवान नजर रखेंगे और पीड़ित परिवार से भी मुलाकात कर सुरक्षा का भरोसा दिलाया गया है। इसके अलावा जो कैमरे पीड़ित परिवार के घर लगाए गए हैं, उनके सर्वर रूम का भी निरीक्षण कर जानकारी हासिल की गई है। हमारे जवान पूरी मुस्तैदी से गांव में तैनात रहेंगे।

यह भी पढ़ें: बुलंदशहर में बीडीसी सदस्य की गाेलियों से भूनकर हत्या

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता के परिवार को सुरक्षा के लिए राज्य सरकार को निर्देश दिए थे। अभी तक यूपी पुलिस पीड़ित परिवार की सुरक्षा में तैनात थी। लेकिन, परिवार के लोग लगातार अपनी जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग कर रहे थे। जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए थे। जिस पर सरकार ने सीआरपीएफ को सुरक्षा में तैनात करने का फैसला लिया। इसके साथ ही पीड़ित परिवार के घर प्रशासन ने सीसीटीवी कैमरे भी लगवाए हैं।

उल्लेखनीय है कि हाथरस कांड में लगातार नए मोड सामने आ रहे हैं। जहां एक तरफ पीड़ित परिवार ने मृतका संग गैंगरेप और हत्या के आरोप लगाए हैं तो वहीं आरोपियों के परिवार ने पीड़ित परिवार पर ही हत्या का आरोप लगाया है। इस मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को जेल भेज दिया है। वहीं मामले की जांच सीबीआई द्वारा की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सीबीआई जल्द ही अपनी जांच रिपोर्ट कोर्ट में पेश कर सकती है।



Advertisement