Deepawali 2020 : दीपावली पर इस शुभ मुहूर्त में करें मां लक्ष्मी की पूजा, होगी अपार धन की प्राप्ति

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. दीपावली हिन्दू धर्म का सबसे बड़ा त्योहार है। पूरे भारत में हर साल कार्तिक माह में कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को दीपावली का त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। कई वर्षों बाद इस बार यह तिथि सर्वार्थसिद्धि देने वाली मानी गई है। इस वर्ष दीपावली का त्योहार 14 नवंबर को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। दीपावली पर धन की देवी मां लक्ष्मी का पूजन होता है। इस दिन मां लक्ष्मी स्वयं पधारती हैं। इस दिन पूरे विधि-विधान के साथ पूजन करने पर सुख-समृद्धि बनी रहती है। दीपावली के पावन उत्सव पर धन और वैभव की देवी मां लक्ष्मी और गणपति महाराज की पूजा होती है।

शास्त्रों के अनुसार, धन-वैभव, ऐश्वर्य और सौभाग्य प्राप्ति के लिए दीपावली की रात्रि को लक्ष्मी-गणेश पूजन के लिए सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त माना गया है। लखनऊ के एक ज्योतिषाचार्य ने बताया कि इस दीपावली पर 499 साल बाद ग्रहों का ऐसा संयोग बन रहा है जो संयोग साल 1521 में बना था। दीपावली पर गुरु ग्रह अपनी स्वराशि धनु और शनि अपनी स्वराशि मकर में रहेगा। जबकि शुक्र ग्रह कन्या राशि में रहेगा। इस बार अमावस्या तिथि 14 नवंबर दोपहर 2:17 बजे से शुरू होगी और दूसरे दिन 15 नवंबर को सुबह 10:36 बजे तक रहेगी। यही वजह है कि माता लक्ष्मी का पूजन 14 नवंबर शनिवार को होगा। अगर आप अपार धन की प्राप्ति करना चाहते हैं तो इस शुभ मुहूर्त में पूरे विधि विधान के साथ पूजा अर्चना करें। इससे मां लक्ष्मी आपकी हर मनोकामना पूरी करेंगी।

लक्ष्मी पूजन मुहूर्त

- लक्ष्मी पूजा मुहूर्त - 14 नवंबर की शाम 5:28 से शाम 7:24 तक।
- सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त - 14 नवंबर की शाम 5:49 से 6:02 बजे तक
- प्रदोष काल मुहूर्त - 14 नवंबर की शाम 5:33 से रात्रि 8:12 तक
- वृषभ काल मुहूर्त - 14 नवंबर की शाम 5:28 से रात्रि 7:24 तक

लक्ष्मी पूजन चौघड़िया मुहूर्त

- दोपहर– (लाभ, अमृत) 14 नवंबर की दोपहर 02:17 से शाम को 04:07 तक।
- शाम- (लाभ) 14 नवंबर की शाम को 05:28 से शाम 07:07 तक।
- रात्रि– (शुभ, अमृत, चल) 14 नवंबर की रात्रि 08:47 से देर रात्रि 01:45 तक।
- प्रात:काल- (लाभ) 15 नवंबर को 05:04 से 06:44 तक।

व्यापारिक प्रतिष्ठान पूजन मुहूर्त

सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त 'अभिजित - दोपहर 12 : 09 से शाम 04 : 05 मिनट तक

गृहस्थों के लिए पूजन मुहूर्त

- सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त - 14 नवंबर की शाम 5:49 से 6:02 बजे तक
- प्रदोष काल मुहूर्त - 14 नवंबर की शाम 5:33 से रात्रि 8:12 तक
- वृषभ काल मुहूर्त - 14 नवंबर की शाम 5 :28 से रात्रि 7:24 तक
- सिंह लग्न मुहूर्त - 14 नवंबर की मध्य रात्रि 12 :01 से रात 2:19 तक



Advertisement