योगी सरकार का बड़ा एक्शन, हटाए गये लखनऊ के पुलिस कमिश्नर, रातों-रात IPS डीके ठाकुर ने लिया चार्ज

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मंगलवार देर रात यूपी के चार वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों का तबादला कर दिया। इन अधिकारियों में लखनऊ के पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे भी शामिल हैं। सुजीत पांडे को एडीजी (एटीसी) सीतापुर बनाया गया है और एटीएस के एडीजी डीके ठाकुर को लखनऊ का नया पुलिस कमिश्नर बनाया गया है। मंगलवार आधी रात के बाद ही लखनऊ के नए पुलिस कमिश्नर का चार्ज संभालने का आदेश डीके ठाकुर को दिया गया। जिसके बाद डीके ठाकुर ने देर रात ही लखनऊ के पुलिस कमिश्नर का चार्ज संभाल लिया।

 

इस वजह से हुई कार्रवाई

पुलिस सूत्रों के मुताबिक दिवाली से ठीक एक दिन पहले लखनऊ के बंथरा में हुआ जहरीली शराब कांड इस कार्रवाई के पीछे की मुख्य वजह है। जिसके चलते सुजीत पांडे को उनके पद से हटाया गया। आपको बता दें जहरीली शराब मामले में अब तक 6 लोगों की मौतें हो चुकी हैं और करीब 7 लोग अभी भी अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं।

 

पहले भी रह चुके लखनऊ एसएसपी

आपको बता दें कि लखनऊ के नए पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर 1994 बैच के आईपीएस अफसर हैं और लखनऊ के एसएसपी भी रह चुके हैं। इसके अलावा केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से लौटे जीके गोस्वामी को एटीएस का एडीजी बनाया गया है और राजकुमार को एडीजी कार्मिक बनाया गया है।

 

आबकारी विभाग पर भी बड़ी कार्रवाई

वहीं लखनऊ के बंधरा में जहरीली शराब से मौत मामले में योगी सरकार ने आबकारी विभाग के भी कुछ अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई की है। लखनऊ के आबकारी निरीक्षक आलोक पांडेय को निलंबित कर दिया गया हैं। इसी तरह फिरोजाबाद में जहरीली शराब कांड के चलते वहां के आबकारी निरीक्षक आरके सिंह को भी निलंबित कर दिया गया है। इसके अलावा लखनऊ और फिरोजाबाद के जिला आबकारी अधिकारी सुदर्शन सिंह और राम स्वार्थ चौधरी भी हटा दिये गए हैं। फिलहाल इन दोनों को आबकारी आयुक्त कार्यालय से अटैच कर दिया गया है।

 



Advertisement