किसानों ने पुलिस पर लगाया उत्पीडन का आरोप, बोले- 1 जनवरी से यूपी के थानों में बांध देंगे पशु

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गाजियाबाद। पिछले करीब 34 दिनों से कृषि कानून को वापस लिए जाने की मांग को लेकर बड़ी संख्या में किसान गाजियाबाद के यूपी गेट और धरने पर बैठे हुए हैं। किसानों ने अपने तंबू लगाए हुए हैं और रात और दिन वहीं पर मौजूद हैं। तमाम जद्दोजहद के बाद भी अभी तक किसान और सरकार के बीच सामंजस्य नहीं बैठ पाया है। इस बीच भाजपा के तमाम विरोधी दल भी किसानों का समर्थन करते नजर आ रहे हैं।

यह भी देखें: सरकार के निर्देश पर नोडल अधिकारी ने किया दौरा

वहीं आंदोलन में आए उत्तर प्रदेश के किसानों का आरोप है कि उत्तर प्रदेश पुलिस लगातार किसानों का उत्पीड़न कर रही है। क्योंकि जो किसान दूरदराज से आंदोलन में पहुंचना चाह रहे हैं, उन्हें बीच में ही रोका जा रहा है और परेशान किया जा रहा है। इस पर किसान नेता राकेश टिकैत ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि यदि किसानों का उत्पीड़न बंद नहीं किया गया तो 1 जनवरी से उत्तर प्रदेश के थानों में किसान पशु बांधने का कार्य करेंगे।

यह भी पढ़ें: राज्यमंत्री के भाई के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज, सीएम योगी के मंत्री ने दी ये सफाई

किसान नेता राकेश टिकैत के द्वारा दी गई इस प्रतिक्रिया के बाद वहां बैठे सभी किसानों ने अपने नेता का समर्थन किया। यहां सभी किसानों का कहना है कि जिस उद्देश्य से यह किसान धरने पर बैठे हुए हैं। उस उद्देश्य को पूरा करने के लिए अपने नेता की सभी किसान बात मानेंगे और या तो किसानों को उत्तर प्रदेश पुलिस धरना स्थल तक पहुंचने देगी नहीं तो 1 जनवरी से थानों में पशु खड़े हुए नजर आएंगे।