25 दिसंबर रात 12 बजे से छिन जाएंगे ग्राम प्रधानों के अधिकार, अब इनके हाथों में होगी कमान

गोरखपुर. ग्राम पंचायतों (Gram Panchayat) का कार्यकाल 25 दिसंबर की रात 12 बजे से समाप्त हो रहा है। ग्राम पंचायतों का कार्यकाल समाप्त होने के साथ ही प्रधानों के वित्तीय व प्रशासनिक अधिकार समाप्त हो जाएंगे। पंचायत चुनाव होने तक प्रशासक ही यह जिम्मेदारी निभाएंगे। उधर, जिला प्रशासन की ओर से प्रशासक नियुक्त करने की तैयारी की जा चुकी है लेकिन प्रधानों का संगठन शासन के अधिकारियों से मिलकर कार्यकाल बढ़वाने के प्रयास में लगा है। ग्राम पंचायतों के कार्यकाल को लेकर शासन के आदेश का इंतजार किया जा रहा है। गोरखपुर के सभी ब्लाकों में एडीओ पंचायत भी नहीं हैं, ऐसे में एक एडीओ पंचायत के पास करीब 80 गांवों की जिम्मेदारी होगी।

नहीं बढ़ेगा कार्यकाल

प्रधानों का संगठन शासन के अधिकारियों से मिलकर कार्यकाल बढ़वाने के प्रयास में लगा है। लेकिन पंचायती राज निदेशक की ओर से बुधवार को जारी पत्र में इस बात के साफ संकेत हैं कि कार्यकाल नहीं बढ़ेगा। निदेशक किंजल सिंह की ओर से जारी पत्र में 25 दिसंबर की रात 12 बजे से प्रधानों के वित्तीय अधिकार पर रोक लगाने को कहा गया है। पत्र में कहा गया है कि तय समय के बाद किसी भी तरह का राज्व वित्त या 15वें वित्त का धन प्रधानों की ओर से जारी हुआ तो संबंधित सचिव, एडीओ पंचायत व जिला पंचायत राज अधिकारी जिम्मेदार होंगे।

ये भी पढ़ें: जन्मदिन: जब बीएचयू निर्माण के दौरान हैदराबाद के निजाम की जूती नीलाम करने निकल पड़े थे पंडित मदन मोहन मालवीय, मशहूर है उनसे जुड़ा ये किस्सा