सांसद स्मृति ईरानी ने क्यों खरीदा हाजमोला, आखिर उस दुकान में क्या था खास

अमेठी. दिसम्बर की कड़कड़ाती ठंड में शनिवार रात स्मृति ईरानी का काफिला अमेठी की सड़कों पर जा रहा था। यहां मिले प्यार-सम्मान और रिश्तों को आयाम देने के लिए वो गाड़ी से उतरी और पैदल चल पड़ी। उनके साथ बड़ा समूह और प्रशासनिक अमला भी था। सीधे वो एक ब्रेकर्स की दुकान में पहुंची। उन्होंने दुकान से बंद और हाजमोला की खरीदारी की, फिर यहीं महिलाओं ने उनके साथ सेल्फी भी ली।

योगी के ये 12 अफसर किसानों को समझाएंगे नया कृषि बिल

केंद्रीय मंत्री एवं अमेठी सांसद स्मृति ईरानी 25 दिसम्बर क्रिसमस डे से अमेठी के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। दौरे के दूसरे दिन शनिवार को अपने तय कार्यक्रमों को निपटाते हुए रात उनका काफिला अमेठी तहसील क्षेत्र में पहुंचा। दरअस्ल स्मृति यहां इसलिए पहुंची थीं कि शनिवार दोपहर जब वो पूर्व विधायक स्व. जमुना प्रसाद मिश्र के घर शोक संवेदना व्यक्त करने जा रही थीं तो व्यापारियों ने ककवा रोड पर बन रहे ओवरब्रिज निर्माण को लेकर उन्हें रोककर आपत्ति जताई थी। इसी मुद्दे को लेकर स्मृति रात को व्यापारियों से मिलने पहुंची थीं। यहां से लौटते समय वो ककवा रोड पर पवन की दुकान पर पहुंची और हाजमौला और बंद खरीदा, फिर जगदीश की साड़ी की दुकान पर भी पहुंची।