और जारी हो गया अंतरराष्ट्रीय माफिया छोटा राजन व मुन्ना बजरंगी पर डाक टिकट

कानपुर. मृतक माफियाओं के डाक टिकट जारी होने के बाद डाक एवं पोस्टल विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। प्रधान डाकघर से डाक टिकट अंतरराष्ट्रीय माफिया छोटा राजन और बागपत जेल में गैंगवार में मारा गया माफिया मुन्ना बजरंगी के ऊपर जारी किया गया है। इस संबंध में पोस्ट मास्टर जनरल ने कहा कि उनकी जानकारी के बिना ही डाक टिकट जारी किया गया है। डाक टिकट जिंदा आदमी का जारी होता है। इसकी जांच करा कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। ज्ञातव्य है कि 9 जुलाई 2018 को गैंगवार में मुन्ना बजरंगी उर्फ प्रेम प्रकाश सिंह की बागपत जेल में हत्या कर दी गई थी। जबकि छोटा राजन उर्फ राजेंद्र एस निखलजे अंतरराष्ट्रीय माफिया की श्रेणी में आता है।

2017 में आई थी माई स्टैंप योजना

उल्लेखनीय है भारतीय डाक विभाग ने 2017 में माई स्टैंप नाम से योजना लांच की थी। जिसके अंतर्गत कोई व्यक्ति भारतीय डाक विभाग में ₹300 का निर्धारित शुल्क जमा कर अपना डाक टिकट जारी करवा सकता है। इन डाक टिकटों को अन्य डाक टिकटों की तरह ही अधिकार प्राप्त है। जिसे समान डाक टिकटों की तरह डाक में लगाकर कहीं भी भेजा जा सकता है। डाक टिकट जारी करवाने की प्रक्रिया इतनी आसान भी नहीं है कि कोई भी आकर अपना टिकट जारी करवा ले। विभागीय मिलीभगत इस नियम शर्तों को बाईपास कर पूरी प्रक्रिया पूरा किया गया है। पोस्ट मास्टर जनरल वीके शर्मा ने कहा कि इसकी जांच कराई जाएगी।

क्या है नियम

माई स्टैंप योजना के अंतर्गत डाक टिकट बनवाने के लिए आवेदक निर्धारित फार्म पर पूरी जानकारी देते हुए आवेदन करना पड़ता है। जिसके साथ अपना पासपोर्ट साइज फोटो भी लगाना होता है। इसके साथ ही डाक टिकट केवल जिंदा व्यक्ति का ही जारी करने का नियम है। इसके साथ आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी भी अनिवार्य है। विभाग सभी दस्तावेजों की जांच कराता है। उसके बाद ही आवेदक का 12 की संख्या में डाक टिकट जारी किया जाता है।