अतीक अहमद के गुर्गों के आलीशान मकान पर चला योगी सरकार का बुल्डोजर, करोड़ों में आंकी गई कीमत

प्रयागराज. पूर्व सांसद अतीक अहमद (Atiq Ahmad) के गुर्गों पर योगी सरकार का बुल्डोजर चला है। अतीक अहमद के गुर्गों आबिद प्रधान और अकबर के मकानों पर विकास प्राधिकारण ने ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की है। बमरौली में एक दिन में दो माफियाओं के खिलाफ हुई कार्रवाई से क्षेत्र में हड़कंप मचा रहा। राजूपाल हत्याकांड के मुख्य आरोपी आबिद प्रधान के मकान की कीमत 12 करोड़ तो, हिस्ट्रीशीटर अकबर के मकान की कीमत करीब तीन करोड़ बताई गई है।

विकास प्राधिकरण के जोनल अधिकारी सत शुक्ला और आलोक कुमार पांडेय के नेतृत्व में पुलिस, प्रशासन और पीडीए की टीम दोपहर करीब 12 बजे बमरौली क्षेत्र के मरियाडीह में आबिद प्रधान के मकान पर पहुंची और मजदूरों की मदद से पहले मकान को खाली कराया गया। इसके बाद दो जेसीबी की मदद से ध्वस्तीकरण की कार्रवाई शुरू की गई। करीब 700 वर्ग में दो मंजिला मकान बनवाया गया था।

मकान बनवाने से पहले नहीं पास कराया था नक्शा

अधिकारियों द्वारा आरोप है कि अतीक अहमद के गुर्गों ने मकान बनवाने से पहले नक्शा नहीं पास करवाया था। पीडीए की ओर से पूर्व में मकान ध्वस्तीकरण का आदेश भी पारित किया गया था। पीडीए के जोनल अधिकारी सत शुक्ला का कहना है कि आबिद प्रधान चर्चित राजू पाल हत्याकांड का मुख्य आरोपी रहा है। इसके साथ ही वह कई अन्य हत्याकांड में भी अभियुक्त रहा है। अकबर बमरौली पुलिस चौकी फूंकने का आरोपी रहा है। वह धूमनगंज थाने का हिस्ट्रीशीटर भी है।

ये भी पढ़ें: Year Ender 2020: यूपी की 10 प्रमुख शख्सियतें जिनका 2020 में हुआ निधन