कल तक ईडी पर बरसने वाले शिवसेना नेता संजय राउत के तेवर में दिखी नरमी, पत्नी के लिए ईडी से की ये मांग

शिवसेना और केंद्र सरकार के बीच एक बार फिर थे ठनती दिख रही है. दरअसल शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने समन भेजा है और 29 दिसंबर को पूछताछ के लिए बुलाया है. वर्षा राउत को ये समन पीएमसी बैंक घोटाले की जांच के मामले में भेजा गया है. पत्नी को ED का समन मिलते ही संजय राउत भड़क गए और उन्होन चेतावनी दे डाली थी.

हालांकि अब संजय राउत के तेवर ढीले पड़ते नज़र आ रहे है. जानकारी के अनुसार वर्षा राउत ने सोमवार की शाम ईडी को पत्र भेजकर पेश होने के लिए अतिरिक्त समय की मांग की है. बताया या भी जा रहा है कि वर्षा अब 5 जनवरी को ईडी कार्यालय जा सकती हैं. इससे पहले शिवसेना नेता प्रताप सरनाईक ने भी ईडी के समक्ष टाइम बढ़ाने की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि वह विदेश से लौटे हैं, इसलिए कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना जरूरी है. इसके बाद ईडी ने उन्हें समय भी दिया था.

दरअसल इससे पहले संजय राउत ने केंद्र सरकार पर तब हमला बोला था जब उनकी पत्नी को ईडी ने समन भेजा था तब संजय राउत ने शायराना अंदाज़ में एक ट्वीट करते हिए लिखा था कि ‘तुम लाख कोशिश करलो, मुझे बदनाम करने की, मैं जब भी बिखरा हूं, दुगनी रफ्तार से निखरा हूं…’

कल संजय राउत ने एक प्रेस कांफ्रेंस की थी और उन्होने कहा था कि ‘महिलाओं को निशाना बनाना गलत है. लेकिन संजय राउत ये भूल गये की कुछ वक्त पहले उन्होने कंगना रनौत पर जब निशाना साधा था तब वो क्या था’. वो कहते है ना “जिनके घर शीशे के होते हैं वो दूसरो के घर पर पत्थर नही मारा करते”. ये लाइन संजय राउत पर पूरी तरह से फिट बैठ रही है.