अब कृषि कानूनों के विरोध में उतरे भाजपा नेता, कहा- किसानों के समर्थन में देंगे पद से इस्तीफा

बागपत. कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को जहां विपक्षी दल किसानों का पुरजोर समर्थन कर रहे हैं, वहीं अब भाजपा में भी इन कानूनों को लेकर खींचतान शुरू हो गई है। भाजपा नेता लोकेंद्र सिंह का कहना है कि वह किसानों का समर्थन करते हैं। नए कृषि कानूनों से किसान बर्बाद हो जाएंगे। इसलिए वह किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष पद से अपना इस्तीफा देंगे। वहीं, इस भाजपा जिलाध्यक्ष सूरजपाल गुर्जर ने कहा कि लोकेंद्र सिंह को पूर्व में ही किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजा वर्मा पद से हटा चुके हैं। फिलहाल जसवीर सोलंकी मोर्चा के संयोजक हैं।

यह भी पढ़ें- राज्यमंत्री के भाई के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज, सीएम योगी के मंत्री ने दी ये सफाई

बता दें कि सिंधु बॉर्डर और यूपी गेट की तर्ज पर बड़ौत में भी कृषि कानूनों के खिलाफ धरना प्रदर्शन जारी है। 11 दिन से किसान बड़ौत में राष्ट्रीय राजमार्ग 709बी पर धरना देकर बैठे हैं। मंगलवार को भाकियू शामली के पदाधिकारी भी धरना स्थल पहुंचे और अपना समर्थन दिया। इसी बीच जिले के भाजपा नेताओं के बीच कृषि कानूनों को लेकर खींचतान शुरू हो गई है। भाजपा नेता लोकेंद्र सिंह ने किसानों का समर्थन करते हुए अपने फेसबुक पोस्ट पर लिखा है कि नए कृषि कानून किसानों को बर्बाद कर देंगे। इसलिए देशभर के किसान आज सड़कों पर हैं। सरकार को तीनों कानून वापस लेने चाहिए।

इतना ही नहीं लोकेंद्र सिंह ने किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की बात भी कही है। जिस पर भाजपा जिलाध्यक्ष सूरजपाल गुर्जर ने कहा है कि लोकेंद्र सिंह को पहले ही किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजा वर्मा पद से हटा चुके हैं। वर्तमान में जसवीर सोलंकी मोर्चा के संयाेजक हैं।

यह भी पढ़ें- यूपी दिल्ली बॉर्डर पर किसानाें की महापंचायत काे लेकर अलर्ट जारी