पीएम मोदी आज करेंगे डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर रेलवे ट्रैक का शुभारंभ, भाऊपुर से खुर्जा के बीच चलेंगी ट्रेनें

कानपुर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज भाऊपुर से खुर्जा के बीच डीएफसीसीआईएल (डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कारपोरेशन इंडिया लिमिटेड) के रेल ट्रैक का उद्घाटन वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से करेंगे। यह रेलवे के सबसे बड़े ड्रीम प्रोजेक्ट डीएफसीआईएल का एक हिस्सा है, जिसे ईस्टर्न कॉरिडोर नाम दिया गया है। इस प्रोजेक्ट के पहले चरण में ईस्टर्न और वेस्टर्न कॉरिडोर बना रहा है। कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और रेल मंत्री पीयूष गोयल भी मौजूद रहेंगे। हालांकि यह उद्घाटन कार्यक्रम पहले पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस पर होना था, लेकिन किन्हीं कारणोंवश उस दिन नहीं हो सका।


इस सेक्शन से मालगाड़ियां होंगी ऑपरेट

ईस्टर्न कॉरिडोर रेलवे के सबसे बड़े ड्रीम प्रोजेक्ट डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (Dedicated Freight Corridor DFC) का केवल एक हिस्सा है। जिसकी शुरुआत आज प्रधानमंत्री करने जा रहे हैं। उद्घाटन के बाद इस सेक्शन से मालगाड़ी ऑपरेट होने लगेंगी। यह सेक्शन मौजूदा कानपुर-दिल्ली मुख्य लाइन से भी भीड़भाड़ कम कर देगा और भारतीय रेलवे को तेज ट्रेनें चलाने के लायक बनाएगा। इसकी लंबाई न्यू भाऊपुर से न्यू खुर्जा तक 351 किलोमीटर है। 5750 करोड़ की लागत से इसके ए सेक्शन को तैयार कर दिया गया है। मालगाड़ियों का बोझ खत्म होने से पैसेंजर्स को इस रूट पर ट्रेनों की लेटलतीफी से भी काफी हद तक छुटकारा मिल जाएगा।


वेस्टर्न कॉरिडोर का भी चल रहा निर्माण

हालांकि ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर की कुल लंबाई 1856 किमी है। जो पंजाब के लुधियाना से शुरू होकर हरियाणा, यूपी, बिहार और झारखंड से होते हुए पश्चिम बंगाल के दानकुनी तक जाएगा। वहीं इसी के साथ 1504 किमी लंबे वेस्टर्न कॉरिडोर का भी निर्माण चल रहा है, जो ग्रेटर नोएडा के दादरी से शुरू होकर मुंबई जवाहरलाल नेहरू पोर्ट तक बन रहा है। आपको बता दें कि कि डीएफसी प्रोजेक्ट भारतीय रेल के सबसे व्यस्त हावड़ा-दिल्ली रूट पर मालगाड़ियों को शिफ्ट करने के लिए शुरू किया गया है।

यह भी पढ़ें: सरकारी कॉलेज में बनिये लेक्चरर, इतने हजार पदों पर हो रही भर्तियां, बिना इंटरव्यू मिलेगी सरकारी नौकरी