कानपुर के सट्टेबाजों का दिल्ली-आगरा से कनेक्शन, दो करोड़ से ज्यादा की नकदी बरामद

कानपुर. विभिन्न थाना क्षेत्रों में सट्टेबाजी का अवैध खेल धड़ल्ले से चल रहा था। जिसका खुलासा संयुक्त रूप से गठित की गई पुलिस टीम ने किया। इस दौरान सट्टा खिलाने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने 4 शातिर हाईटेक, सटोरियों को गिरफ्तार किया। जिनके पास से दो करोड़ सात लाख रुपए, नोट गिनने की मशीन, मोबाइल रजिस्टर भी बरामद हुआ है। सटोरियों का दिल्ली और आगरा से कनेक्शन का भी खुलासा हुआ। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि दो सटोरिया फरार है। जिनके गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

 

एसपी वेस्ट डॉक्टर अनिल कुमार के अनुसार

पत्रकार वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक वेस्ट डॉ अनिल कुमार ने बताया कि पकड़े गए सटोरियों के पास से 2 करोड़ सात लाख रुपए बरामद हुआ है। इसके अतिरिक्त 3 किलो चरस भी मिला है।

 

एसपी साउथ दीपक भूकर ने बताया

पुलिस अधीक्षक साउथ दीपक भूकर ने बताया कि सटोरियों का जाल कानपुर, दिल्ली और आगरा तक बिछा था। जहां से खेल में एक दूसरे का सहयोग करते थे। उन्होंने बताया कि प्रत्येेेक सोमवार को आईडी खेलने वालों को उपलब्ध कराई जाती थी। जिसेे दिल्ली का रहने वाला कपूर सप्लाई करता था। इसके अतिरिक्त आगरा का रहने वाला अंकुश सट्टा के खेल में पलटी का काम करता था। अनीश व विक्की बांदरी भी सट्टा के खेल में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते थे। उपरोक्त चारों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दो अन्य फरार है। जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके पूर्व पकड गए सटोरियों से भी इनका कनेक्शन है व्हाट्सएप के माध्यम से आपस में संबंध रखते थे और हवाला के माध्यम से लेन-देन उठा था है। उन्होंने बताया कि फरार अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए टीम लगाई गई है।