किसान आन्दोलन के बीच वार्ता से पहले किसानों ने सरकार के सामने रखी एक और मांग, कहा कि…

केंद्र सरकार के नए कृषि कानून को लेकर बीते एक महीने से किसान आन्दोलन कर रहे है और इसी वजह से सरकार और किसानों के बीच तनाव भी बना हुआ है. दरअसल किसानों का कहना है कि सरकार उनकी मांगो को पूरा करे और बिल को वापस ले. लेकिन सरकार का कहना है कि बिल में सरकार संशोधन करेगी. इतना ही नहीं सरकार और किसान संगठनों के बीच कई दौर कि वार्ता भी हो चुकी है लेकिन अभी तक इस मसले पर कोई हल नहीं निकला है

इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है. दरअसल आज किसानों और सरकार के बीच एक और वार्ता होनी है. लेकिन इससे पहले किसानों ने एक और नयी मांग सरकार के सामने रख दी है. जानकारी के लिए बता दें कि अब किसानों का कहना है कि सरकार बिजली सुधार बिल को भी वापस ले जबकि पहले किसान संगठन इस बिल में जरूरी बदलावों पर सहमत थे. लेकिन अब इस को लेकर भी किसानों ने अपनी मांगे उठा दी है.

बता दें कि अभी तक बिजली सुधार बिल बहुत बड़ा मुद्दा नहीं था क्योंकि केंद्र सरकार इसमें बदलावों के लिए पूरी तरह तैयार थी लेकिन अब इस बिल को वापस लेने की मांग गतिरोध खत्म करने की प्रक्रिया को मुश्किल बना सकती है. जाहिर है कि आज सरकार और किसान संगठनो के बीच वार्ता होनी है और अगर आज इस वार्ता में गतिरोध को कम करने का कोई हल नहीं निकला तो स्थिति काफी ज्यादा ख़राब हो जाएगी. ऐसे में सरकार के लिए इस आन्दोलन को खत्म कराना एक चुनौती बन सकता है.