Facebook पर युवती से मांगी अश्लील तस्वीर, दो नाबालिगों पर लव जिहाद का केस दर्ज, एक गिरफ्तार

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

ग्रेटर नोएडा। यूपी में लव जिहाद कानून बनने के बाद लगातार इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं। जिनमें पुलिस कार्रवाई करते हुए आरोपियों को जेल भी भेज रही है। ताजा मामला ग्रेटर नोएडा के दादरी थाना क्षेत्र का है। जहां पुलिस ने 17 वर्षीय युवती के पिता की तहरीर पर दो नाबालिगों के खिलाफ केस दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार किया है और उसे संप्रेक्षण गृह भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक इनमें से एक आरोपी पीड़िता को स्कूल के समय से जानता है और दोनों के एक वर्ष पूर्व संबंध थे।

यह भी पढ़ें: टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर लग्जरी कारों पर करते थे हाथ साफ, कारनामा जानकर सभी हैरान

आरोप है कि आरोपी युवती से फेसबुक के जरिए अश्लील तस्वीरें मांगता था। वहीं जब पीड़िता ने आरोपी से बात करना बंद कर दिया तो उसके दोस्त ने भी उसपर दबाव बनाया। बाद में दोनों पीड़िता का शोषण करने लगे और इंटरनेट पर उसकी तस्वीरें अपलोड करने की धमकी दी। आरोप है कि कुछ दिनों पहले आरोपी पीड़िता को एक शॉप पर ले गया और उसे गलत तरीके से छुआ। जब लड़की ने इसका विरोध किया तो आरोपी ने उससे कहा कि अगर वह अपना धर्म परिवर्तन करती है तो वो उससे शादी कर लेगा। पीड़िता ने सभी बात अपने परिजनों को बताई तो उन्होंने थाने में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। जिस पर पुलिस ने आरोपी और उसके दोस्त के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और धर्मांतरण रोधी कानून के तहत केस दर्ज कर लिया है।

आरोपी के भाई ने सभी आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि उसका भाई इंटर कॉलेज में पढ़ता है और उसे फंसाया गया है। आखिर 17 साल का लड़का किसी लड़की को धर्म परिवर्तन कर शादी के लिए कैसे कह सकता है। उसने कहा कि हम गरीब परिवार से हैं और मेरे पिता मशीन ठीक करते हैं। मैं भी कपड़े की दुकान में काम करता हूं। उसने आरोप लगाया कि पुलिस ने उसके भाई को संप्रेक्षण गृह भेजने से पहले उसकी पिटाई भी की।

यह भी देखें: नाबालिग किशोरी का अपहरण कर दुष्कर्म, पुलिस ने दर्ज किया छेड़छाड़ का केस

मामले में ग्रेटर नोएडा के एडिशनल डीसीपी विशाल पांडे ने बताया कि पुलिस ने युवक और युवती की बातचीत के स्क्रीनशॉट साइबर सेल को भेज दिए हैं। युवती के पिता की तहरीर पर कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपी को हिरासत में लेकर उसे संप्रेक्षण गृह भेजा गया है। वहीं दूसरे आरोपी को हिरासत में नहीं लिया गया है।