महाराष्ट्र: सरकारी अस्पताल में सोता रहा सिस्टम! देर रात आग से झुलस कर 10 बच्चों की चली गई जान, PM ने हादसे पर जताया दु:ख

महाराष्ट्र के भंडारा जिला अस्पताल में शुक्रवार देर रात विशेष नवजात देखरेख इकाई विभाग में आग लग गई. इस हादसे में 10 नवजात बच्चों की जान चली गई. डॉक्टर से मिली जानकारी के अनुसार इन नवजात बच्चों की उम्र महज एक महीने से तीन महीने के बीच थी.


इस दु’र्भा’ग्य’पू’र्ण हादसे से पूरा देश दुःखी है. हम सबकी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं और ईश्वर पीड़ित परिवारों को इस दुख से लड़ने के लिए शक्ति प्रदान करें.
इस दुखद हादसे को लेकर पीएम मोदी, राष्ट्रपति केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह समेत सभी ने संवेदनाएं वयक्त की है.

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा , ‘महाराष्ट्र के भंडारा में दिल दहला देने वाली इस हादसे में, जिसमें हमने कीमती युवा जीवन खो दिया है. सभी शोक संतप्त परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं. मुझे उम्मीद है कि घायल जल्द से जल्द ठीक हो जाएंगे.

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं. वहीं, महाराष्ट्र के गृह मंत्री भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं. महाराष्ट्र सरकार ने पुलिस और हॉस्पिटल से हादसे की पूरी रिपोर्ट मांगी है और जांच के कड़े निर्देश दिए हैं. इस हादसे में 10 नवजात की मौत के बाद अब महाराष्ट्र सरकार एक्शन मोड में आ गई है.

जानकारी के लिए बता दें कि भंडारा के जिलाधिकारी ने कहा कि तकनीकी समिति यह जांच करेगी कि आग लगने की इस घ’ट’ना के पीछे क्या वजह थी. अब तक इस घटना के कारण का कुछ अहम खुलासा नहीं हुआ है. गौरतलब है कि अस्पताल में जिस वार्ड में आग लगी थी, उस समय वहां 17 नवजात बच्चे थे. हादसे में 10 बच्चों की मौ’त हो गई. हालांकि 7 बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया था



Advertisement