2020 जाते-जाते ले गया 6 लोगों की जिंदगी, किसी ने तनाव में तो किसी ने नशे में मौत को लगाया गले

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा/आगरा। 2020 जाते-जाते भी गौतमबुद्ध नगर और आगरा में कई परिवारों में अंधेरा कर गया। कारण, वर्ष के अंतिम दिन छह लोगों ने सुसाइड कर लिया। वहीं अगर गौतमबुद्ध नगर की करें तो 2020 में 400 से अधिक लोगों ने आत्महत्या की है। यह आंकड़ा लॉकडाउन के दौरान तेजी से बढ़ा। इनमें ज्यादातर मामले तनाव के कारण सुसाइड करने के हैं। जिसके चलते प्रशासन द्वारा मनोचिकित्सक की भी सुविधा लोगों को मुहैया कराई गई, ताकि सुसाइड के मामलों को रोका जा सके।

यह भी पढ़ें: आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर भीषण दुर्घटना, खड़े कैंटर में घुसी डबल डेकर बस

गौतमबुद्ध नगर में तीन ने किया सुसाइड

पहला मामला नोएडा के फेस 3 थाना क्षेत्र का है। पंखे से लटक कर छिजारसी कॉलोनी में रहने वाले 30 साल के अशोक ने आत्महत्या कर ली। व्यक्ति ने सुसाइड नोट भी छोड़ा है। दूसरा मामला ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बिसरख थाना क्षेत्र का है। जहां अर्जुन नाम के एक युवक ने मौत को गले लगा लिया। वहीं तीसरा मामला नोएडा के सेक्टर 24 का है। जहां पर चंद्रेश नाम के एक व्यक्ति का शव बरामद हुआ है। शव देखकर प्रतीत हो रहा है कि व्यक्ति ने खुदकुशी की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी देखें: नए साल के जश्न पर होटलों और रेंस्टोरेंटों में सन्नाटा

आगरा में भी तीन ने मौत को लगाया गले

उधर, आगर के कमला नगर में व्यापारी ने कनपटी पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली। पुलिस के मुताबिक यशोदा नगर स्थित शंभू कुंज निवासी देवेंद्र सिंघल (48 वर्ष) ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से कनपटी में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। खुदकुशी के पीछे तनाव बताया गया है। आगरा के सदर के मधु नगर स्थित देवरी रोड निवासी कुनाल (21 वर्ष) पुत्र उदयपाल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इंस्पेक्टर सदर जितेंद्र कुमार के मुताबिक खुदकुशी की घटना के पीछे पारिवारिक कलह बताई गई है। तीसरा मामला हरीपर्वत क्षेत्र का है। जहां ट्रांसपोर्ट नगर सर्विस रोड पर गुरुवार को तीसरे पहर तीन बजे झाड़ियों में पेड़ पर रस्सी से बने फंदे से युवक का शव लटका मिला। मृतक की शिनाख्त श्यामलाल शर्मा (40 वर्ष) पुत्र जगदीश प्रसाद के रूप में हुई है। वह नगला पदी, न्यू आगरा का रहने वाला था। स्वजन ने बताया कि श्यामलाल नशे का आदी था।