2022 विधानसभा चुनाव के पहले सपा की रणनीति, बनाया यह प्लान, खोलेगी योगी सरकार की पोल

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव (Vidhansabha Chunav) के मद्देनजर सभी दलों ने अपने-अपने स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी हैं। जहां कुछ छोटे दल दूसरे दलों के साथ गठजोड़ बनाने की प्रक्रिया में जुटे हैं, तो वहीं कुछ अपने पुराने वजूद को धरातल पर मजबूत करने की रणनीति बनाने में लगे हैं। इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने भी अपने कार्यकर्ताओं में जोश भरने के साथ चुनाव नजदीक आने पर पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने का काम शुरू कर दिया है। समाजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के खिलाफ पोल खोल अभियान शुरू किया है। इसके तहत वे गड्ढे वाली सड़कों की तस्वीरें साझा कर उनकी पोल खोलने का काम करेगी।

लखनऊ में एक हजार से ज्यादा स्पॉट्स

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता आईपी सिंह ने कहा कि सिर्फ राजधानी लखनऊ में ही एक हजार से ज्यादा स्पॉट्स हैं, जहां गड्ढे में सड़क है या सड़क में गड्ढा है, इसका फर्क करना मुश्किल है। उन्होंने पीडब्ल्यूडी विभाग संभालने वाले उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को 15 मिनट की खुली बहस की चुनौती दी है। आईपी सिंह ने कहा है कि अगर डिप्टी सीएम के दावे में जरा भी सच्चाई है तो उनकी चुनौती को स्वीकार करें। नहीं तो जनता से माफी मांगें।

निर्माण में लापरवाही का आरोप

गौरतलब है कि सपा कार्यकर्ताओं ने शनिवार को लखनऊ के दिलकश मार्ग, हाईकोर्ट से कुछ ही दूरी पर स्थित इंदिरानगर सेक्टर-8, पश्चिमी विधानसभा क्षेत्र की कई जर्जर सड़कों की तस्वीरें सार्वजनिक करते हुए प्रदेश सरकार पर मरम्मत और निर्माण में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। समाजवादी पार्टी कार्यकर्ता अब पूरे प्रदेश में इसी तरह से हर रोज सड़कों की पोल खोलने का अभियान चलाएंगे। जर्जर सड़कों की तस्वीरें साझा कर उनकी पोल खोलने का कार्य सपा कार्यकर्ता करेंगे।

ये भी पढ़ें: मुख्यमंत्री आवास योजना में घर लेना हुआ आसान, मिलेगी ढाई लाख की सब्सिडी, जानें क्या है आवेदन प्रक्रिया

ये भी पढ़ें: यूपी में जल संसाधनों का सुरक्षित उपयोग के लिए जल नीति शीघ्र



Advertisement