41 कोल्ड चेन प्वाइंट पर रखी जाएगी कोरोना वैक्सीन, 24 घंटे रहेगी पुलिस की निगरानी

गोरखपुर. नए साल पर कोरोना वैक्सीन के आने की उम्मीदें जगी हैं। इसी उम्मीद के तहत कोरोना वैक्सीन के रखरखाव की तैयारियां अंतिम चरण में है। कोरोना वैक्सीन के रखरखाव के लिए जिले में 41 कोल्ड चेन प्वाइंट बनाए जाएंगे। इन स्थानों पर कोरोना वैक्सीन रखी जाएगी। इसके अलावा एडी हेल्थ कार्यालय में वैक्सीन रखने के लिए दो बड़े फ्रीजर भी रखे जाएंगे, जिससे की जरूरत पड़ने पर मंडल के अन्य जिलों में वैक्सीन पहुंचाई जा सके। कोविड टीकाकरण के लिए जिले भर में 75 बूथ बनाए गए हैं। इन बूथों पर सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए गए हैं।

तीन निजी अस्पतालों में लगेगी वैक्सीन

शासन की ओर से तीन आईएलआर (आइस लाइंड रेफ्रिजरेटर) आ चुके हैं। जबकि पहले से जिले में 55 आईएलआर हैं। बूथों में तीन निजी अस्पतालों को शामिल किया गया हैं। इनमें गुरु गोरक्षनाथ चिकित्सालय, फातिमा हॉस्पिटल और हनुमान प्रसाद पोद्दार कैंसर अस्पताल शामिल हैं। इसके अलावा सीतापुर आई हॉस्पिटल को भी बूथ बनाया गया है। जबकि अन्य 71 स्वास्थ्य केंद्र हैं। हर जगह एक वैक्सीनेटर (वैक्सीन लगाने वाला) और एक सहायक वैक्सीनेटर इन बूथों पर मौजूद रहेगा। निगरानी के लिए एक विशेषज्ञ चिकित्सक और दो कर्मचारी भी तैनात रहेंगे।

24 घंटे रहेगी पुलिस की निगरानी

41 कोल्ड चेन प्वाइंट पर 24 घंटे पुलिस की तैनाती रहेगी। वहां से टीकाकरण केंद्रों तक वैक्सीन लाने और ले जाने के दौरान पुलिस की टीम मौजूद रहेगी। सुरक्षा के लिए पुलिस बल उपलब्ध कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने एसएसपी को पत्र भी लिखा है। विभाग के अनुसार लगभग 400 पुलिस कर्मियों की जरूरत पड़ेगी।

वैक्सीन के रखरखाव की तैयारियां पूरी

सीएमओ डॉ. सुधाकर प्रसाद पांडेय ने इस मामले में कहा कि वैक्सीन के रख-रखाव की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है। समितियों का भी गठन हो चुका है। कोल्ड चेन प्वाइंट तैयार कर दिए गए हैं। उन्होंने इसी माह वैक्सीन आने की उम्मीद जताई है। इसके लिए कर्मचारियों को प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है।

ये भी पढ़ें: 25 हजार तक की आय वालों को सस्ते में मकान सौंपेगी योगी सरकार, हर मकान पर 5.33 लाख रुपये का अनुदान

ये भी पढ़ें: यूपी में वाहन चालकों को बड़ी राहत, फास्टैग अनिवार्यता की बड़ी डेडलाइन, 15 फरवरी तक टोल नहीं लिया जाएगा कैश



Advertisement