गाड़ी पर जाति लिखवाना पड़ा भारी, 594 चालकों के हुए चालान, कई वाहन किए गए सीज

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। वाहनों पर जातिसूचक शब्द लिखकर रसूख दिखाने वाले लोगों के खिलाफ केंद्र सरकार के नए निर्देश के बाद यूपी में कार्रवाई शुरू हो गई है। इसके चलते यूपी के कई शहरों में पुलिस ने जाति लिखे स्टीकर वाली गाड़ियों के खिलाफ कार्रवाई की है। इस क्रम में गौतमबुद्ध नगर में मोटर व्हीकल एक्ट के उल्लंघन करने वाले ऐसे लोगों के खिलाफ नए आदेश के मुताबिक़ धारा 177 के तहत चालान हो रहा है और 594 वाहनों का चालान किया गया है। पुलिस अधिकारियों का कहना कि नंबर प्लेट पर जातिसूचक शब्द या फैंसी नंबर लिखकर समाज में डर फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। आगे भी ऐसा अभियान चलता रहेगा।

यह भी पढ़ेंं: यूपी सरकार ने दाेगुना किया मनरेगा का बजट, अब हाथ काे मिलेगा काम

दरअसल, वाहनों पर जातिसूचक शब्द लिखने वाले लोगों के खिलाफ चलाये जा रहे विशेष अभियान के तहत जिले के सभी थाना क्षेत्रों में शनिवार सुबह से दोपहर तक सघन जांच गई। इस दौरान 594 वाहनों का चालान काटा गया जबकि कई वाहन जब्त किए गए। गौतमबुद्ध नगर के पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने बताया कि कुछ दिन पूर्व उत्तर प्रदेश शासन द्वारा आदेश जारी हुआ है कि वाहनों पर जातिसूचक शब्द लिखकर चलने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके तहत गौतमबुद्ध नगर पुलिस आयुक्तालय ने एक विशेष अभियान चलाया। इस जांच अभियान के दौरान कारों, दुपहिया वाहनों तथा कमर्शियल वाहनों पर जातिसूचक शब्द लिखने वालों के खिलाफ कार्रवाई हुई।

यह भी देखें: भाजपा सरकार पर अखिलेश यादव ने बोला हमला

गाड़ियों पर नंबर प्लेट की जगह जातिसूचक शब्द जैसे ब्राह्मण ठाकुर जाट गुर्जर, लिखे हुए थे जोकि मोटर व्हीकल एक्ट का सरासर उल्लंघन है। इसके अलावा उन गाड़ियों का भी चालान किया गया है जिन्होंने गलत तरीके से नंबर प्लेट लगाई है तथा नंबर प्लेट पर नारे लिखवाए हैं। पुलिस आयुक्त ने बताया कि इस करवाई में बिना नंबर प्लेट के वाहन चलाने वाले तथा यातायात के नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई हुई है। ये अभियान जारी रहेगा।



Advertisement