जालसाजी कर नौकरी हासिल करने वाले दो शिक्षक बर्खास्त

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. जिले में फर्जी अभिलेखों के जरिये नौकरी हासिल करने वाले शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई जारी है। दो अलग-अलग ब्लाकों में तैनात शिक्षकों का अभिलेख जांच में फर्जी मिलने के बाद बीएसए ने उन्हें बर्खास्त कर दिया है। साथ ही उन्होंने संबंधित खंड शिक्षा अधिकारी को दोनों शिक्षकों की वेतन रिकवरी का निर्देश दिया है।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अंबरीष कुमार के अनुसार ठेकमा ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय हजारेमलपुर के सहायक अध्यापक उमाकांत गुप्ता पुत्र परशुराम निवासी इब्राहिमपट्ठी जिला बलिया ने पेन कार्ड व कूटरचित प्रमाण पत्रों के आधार पर नौकरी प्राप्त की। जांच में फर्जीबाड़े की पुष्टि होने के बाद उन्हें नोटिस जारी की गयी लेकिन उमाकांत गुप्ता कार्यालय पर उपस्थित नहीं हुए। उमाकात गुप्ता 25 अगस्त 2020 से लगातार अनुपस्थित चल रहे है। जिस पर सेवा समाप्ति करने की कार्रवाई करते हुए वेतन रिकवरी का निर्देश दिया गया है।

इसी क्रम में रविशंकर मिश्र प्रधानाध्यापक प्राथमिक विद्यालय अठैसी द्वितीय विकास खंड जयसिंहपुर जनपद सुल्तानपुर द्वारा शिकायत की गई थी कि उसके आयकर विवरण पर किसी अज्ञात श्रोत से आय प्रदर्शित हो रही है। मानव सम्पदा पोर्टल पर संशोधन के दौरान जानकारी मिली है कि उनके नाम व शैंक्षिक अभिलेखों का प्रयोग करके जालसाज द्वारा पवई ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय हमीदपुर पर रविशेखर मिश्र द्वारा सहायक अध्यापक पद पर सेवा की जा रही है।

चार साल पहले आईटीआर भरने के दौरान मालूम हुआ कि उनके आयकर से अधिक आय प्राप्त हो रही है। जो प्राथमिक विद्यालय हमीदपुर आजमगढ़ के पैन कार्ड व शैक्षिक प्रमाण पत्र लगाकर जालसाज नौकरी कर रहा है। जिस पर बीएसए कार्यालय प्राथमिक विद्यालय हमीदपुर के सहायक अध्यापक रविशेखर को रजिस्टर्ड डाक से नोटिस भेज कर कार्यालय पर सभी मूल प्रमाण पत्रों के साथ उपस्थित होने के लिए निर्देश दिया गया लेकिन रविशेखर मिश्र ने नोटिस का कोई जवाब नहीं दिया।

18 अगस्त 2020 से लगातार उक्त शिक्षक विद्यालय से अनुपस्थित चल रहा है। जिस पर विकास खंड पवई के प्राथमिक विद्यालय हमीदपुर में पर तैनात सहायक अध्यापक रविशेखर मिश्र पुत्र अशोक कुमार मिश्र मोहल्ला रामनगर कालोनी मड़या जिला खलीलाबाद की सेवा समाप्त करते हुए वेतन रिकवरी का निर्देश दिया गया है।

BY Ran vijay singh



Advertisement