किसानों के समर्थन में उतरी ये पार्टी, काले झंडे लेकर प्रदर्शन, पुलिस से साथ जमकर हुई झड़प

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मुजफ्फरनगर। कृषि बिलों के विरोध को लेकर दिल्ली बॉर्डर पर सरकार के खिलाफ किसानों के धरने प्रदर्शन को 50 दिन होने जा रहे हैं। इस बीच मुजफ्फरनगर में राष्ट्रीय लोकदल के कार्यकर्ताओं ने सरकर के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान कार्यकर्ता भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय पर काले झंडे फहराने जा रहे थे, तभी जिला प्रशासन और पुलिस ने राष्ट्र लोकदल के कार्यकर्ताओं और समर्थकों को उनके कार्यालय के बाहर रोकने का प्रयास किया। इस दौरान जमकर धक्का-मुक्की हुई।

यह भी पढ़ें: 251 रु में स्मार्टफोन का झांसा देने वाले मास्टर माइंड ने अब मेवे-मसालों के नाम पर की अरबों की ठगी

जानकारी के मुताबिक पुलिस ने दर्जनों राष्ट्र लोकदल के कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। दरअसल, जनपद मुज़फ्फरनगर में थाना सिविल लाइन क्षेत्र के सरकुलर रोड स्थित राष्ट्रीय लोकदल के कार्यालय पर पार्टी के जिलाध्यक्ष अजीत राठी के नेतृत्व में कृषि कानून बिल के विरोध में लोकदल कार्यकर्ताओं ने किसानों के साथ सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में किसानों ने हाथों में काले झंडे लेकर सड़कों पर उतरकर काले कानून का हवाला देते हुए केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोल किया। रालोद कार्यकर्ताओ के इस प्रदर्शन की जानकारी जिला प्रशासन को हुई तो पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भारी पुलिस बल के साथ रालोद कार्यालय पहुंच गए।

यह भी देखें: दिल्ली सिंधु बार्डर से लखनऊ पहुंचे किसान

प्रशासनिक अधिकारियों ने पहले तो रालोद कार्यकर्ताओं को समझाने का प्रयास किया मगर जब रालोद कार्यकर्ता नहीं माने तो पुलिस बल के साथ जबरन उन्हें रोका गया। इस बीच रालोद कार्यकर्ता और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की और तीखी झड़प भी हुई। लोकदल के जिला अध्यक्ष अजीत राठी ने कहा कि अगर यह कानून जल्द से जल्द वापस नहीं हुआ तो 13 जनवरी को किसानों के साथ राष्ट्रीय लोकदल के तमाम बड़े नेता और कार्यकर्ता दिल्ली के लिए कूच करेंगे और किसानों के आंदोलन में हिस्सा लेंगे।



Advertisement