चपरासी की नौकरी लगवाने के नाम पर युवती से गेस्ट हाउस में गैंगरेप, वीडियो भी बनाया

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ ( meerut news ) चपरासी की नौकरी लगवाने के नाम पर एक युवती के साथ गैंगरेप की घटना सामने आई है। कॉलेज के प्रबंधक और उसके दो दोस्तों पर गैंगरेप का आराेप है। आरोपियों ने गैंगरेप ( meerut rape ) के बाद वीडियो भी बना ली। युवती ने जब नौकरी लगवाने के लिए दबाव बनाया तो आरोपियों ने वीडियो वायरल करने की धमकी देनी शुरू कर दी। इसके बाद पीड़िता ने थाने में सामूहिक दुष्कर्म की तहरीर देते हुए मामले की रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus Vaccine: स्वस्थ होने पर ही लगाई जाएगी कोरोना वैक्सीन, पढ़ें डोज की पूरी प्रक्रिया

मामला थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र के एक स्कूल प्रबंधक और उसके दोस्तों से जुड़ा हुआ है। तीन दाेस्तों पर नौकरी का झांसा देकर एक युवती से गैंगरेप का मामला सामने आया है। इस घटना के बाद हिन्दू संगठनों के सदस्यों ने थाने में हंगामा करते हुए कार्रवाई की मांग की है। इसी मामले में आरोपी प्रबंधक ने 65 लाख की हेराफेरी काे कारण बताया है। यह आरोप लगाते हुए प्रबंधक ने भी तहरीर दी है।

यह भी पढ़ें: माइक लेकर झुग्गी-झोपड़ी में पहुंची महिला IPS, बोलीं- बच्चों को भीख मांगने पर न करें विवश

कंकरखेड़ा स्थित एक इंटर कॉलेज की मैनेजमेंट कमेटी के एक सदस्य ने शनिवार दोपहर थाने पर पहुंचकर एक लड़की की तरफ से तहरीर दी। इसके मुताबिक, लड़की सरधना क्षेत्र की रहने वाली है। शिकायत के अनुसार, उक्त कॉलेज के प्रबंधक ने उसे अपने यहां सरकारी नौकरी का झांसा दिया। सालभर पहले युवती को कैंट फ्लाईओवर स्थित गेस्ट हाउस में बुलाया। वहां पर नशीली कोल्डड्रिंक पिलाकर रेप किया गया। आरोप है कि प्रबंधक के दो दोस्तों ने भी रेप किया और वीडियो बनाकर लगातार ब्लैकमेल करते रहे।

यह भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीन को लेकर तैयारी तेज, वैक्सीनेशन के लिए 5 जनवरी को ड्राई रन

इस मामले की खबर सुनकर भाजपा नेता बलराज डूंगर, गोपाल शर्मा सहित भाजयुमो के कुछ पदाधिकारी पहुंच गए। उन्होंने युवती का पक्ष लेते हुए स्कूल प्रबंधक पर कार्रवाई की मांग की। बाद में यह बात भी सामने आई कि मामला प्रबंध कमेटी के विवाद से जुड़ा है। एसओ कंकरखेड़ा का कहना है मामला स्कूल प्रबंधन कमेटी के विवाद का भी सामने आ रहा है। युवती के आरोपों की जांच की जा रही है। जांच में सत्यता पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।