जनवरी की ठंड ने तोड़ा पिछले कई सालों का रिकॉर्ड, फरवरी में भी राहत के आसार नहीं

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. पश्चिम उत्तर प्रदेश में लगातार कड़ाके की ठंड का प्रकोप जारी है। शुक्रवार को भी मौसम बेहद सर्द हो गया और रात में तापमान गिरकर 3.4 डिग्री पहुंच गया। वहीं अधिकतम तापमान में सामान्य से चार डिग्री कम 17.8 डिग्री रहा। बता दें कि यह लगातार पांचवा दिन है, जब तापमान 5 डिग्री से कम बना हुआ है। शुक्रवार की तरह ही शनिवार सुबह कोहरा नहीं दिखाई दिया। सुबह 10 बजे धूप निकलने से लोगों को राहत मिली। इसके अलावा पश्चिम यूपी के कई जिलों में पाला पड़ने की घटनाएं सामने आई है। पाले से किसानों की फसल को नुकसान हो रहा है।

यह भी पढ़ें- कोहरे और गलन से जनजवीन प्रभावित, मौसम विभाग का अलर्ट, आगामी दिनों में ठंड होगी और प्रचंड

जनवरी में जनपद में पिछले सालों के न्यूनतम तापमान पर नजर डालें तो पूरे माह में तीन- चार दिन पारा सामान्य से पांच डिग्री से कम दर्ज किया जाता है। वहीं इस बार कई दिन से पारा लगातार पारा पांच डिग्री से कम पर बना हुआ है। भीषण ठंड न सिर्फ ज्यादा दिनों तक लगातार पड़ रही है। साथ ही तापमान भी निम्नतम स्तर पर है। सबसे कम न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री रहा, जो छह सालों में सबसे कम है। जनवरी का दूसरे पखवाड़े में तो ठंड के तेवर सबसे ज्यादा तल्ख हैं। शुक्रवार को देश के 10 सबसे ठंडे मैदानी भागों में राजस्थान के चित्तौड़गढ़ के साथ मेरठ नौवें नंबर पर बना रहा।

कृषि अनुसंधान केंद्र के मौसम प्रभारी डाॅ. एन सुभाष ने बताया कि इस समय कोई मौसमीय सिस्टम सक्रिय नहीं है, जिस कारण पहाड़ों से ठंडी हवा मैदानी क्षेत्रों में प्रवाहित हो रही है। उत्तर पश्चिमी हवाओं के चलते अगले तीन दिन तक जारी रहने की संभावना है।

जनवरी 2021 में मेरठ में पांच डिग्री से कम न्यूनतम तापमान तापमान वाले दिन
29 जनवरी - 3.1
27 जनवरी - 2.4
26 जनवरी - 4.2
14 जनवरी - 2.8
13 जनवरी - 4.0

जनवरी में पिछले सालों में पांच डिग्री से कम तापमान वाले दिनों की संख्या
2021 - 5 दिन 2.4
2020 - 2 दिन 2.8
2019 - 3 दिन 3.8
2018 - 3 दिन 2.9
2017 - 2 दिन 3.1
2016 - 3 दिन 2.5

यह भी पढ़ें- ठंड से नहीं राहत, बढ़ेगी गलन, अगले हफ्ते बारिश के भी आसार