क्या आज अपना ही विश्व रिकार्ड तोड़ पाएगी दिव्यांग जिया?

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. अपने हौसलों दम पर 3.27 घंटे 30 सेकेंड में 14 किमी तैराकी कर कम उम्र में सबसे तेज तेज तैराकी का रिकार्ड बनाने वाली जिले की दिव्यांग छात्रा जिया राय आज अपना ही रिकार्ड तोड़ सकती है। प्रधानमंत्री की फिट इंडिया मूवमेंट के तहत पालघर जनपद के समुद्री तट पर अंचला कोर्ट से बसई पोर्ट तक 22 किमी. की तैराकी का आयोजन आज हो रहा है जिसमें जिया भी भाग ले रही है। लोगों का मानना है कि कभी हाल न मानने वाली जिया आज खुद के रिकार्ड में सुधार करेंगी।

सगड़ी तहसील क्षेत्र की कटाई अलीमुद्दीनपुर गांव निवासी 11 वर्षीय दिव्यांग छात्रा जिया राय मुंबई के नेवी स्कूल में अध्ययनरत है। जिया ने अपने लक्ष्य के आगे दिव्यांगता को कभी आड़े नहीं आने दिया बल्कि हौसले के दम पर मंजिल हासिल करती रही है। पांच जनवरी 2021 को महाराष्ट्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री मोदी की फिट इंडिया मूवमेंट के तहत प्रतियोगिता आयोजित की गई है। इसमें जिया राय के अलावा देश के जाने-माने व अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त तैराक प्रभात कोली, राष्ट्रीय स्तर पर कार्तिक गूगल, राकेश कदम, शार्दुल हिस्सा ले रहे हैं।

जिया की तैयारी व जज्बा से उनके द्वारा पूर्व में बनाए गए विश्व कीर्तिमान को तोड़ने की उम्मीद है। फोेन पर हुई बातचीत में जिया ने बताया कि उन्होंने हमेंशा बेहतर करने का प्रयास किया है और आगे भी करती रहेंगी। बता दें कि जिया राय को भारत की तरफ से ऑस्ट्रिया अवार्ड के लिए नामित किया गया है। जिसे वह दो राउंड पार कर चुकी हैं। पूर्व में जिया की इस असाधारण उपलब्धि को इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स, एशिया बुक और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हैं।
लगभग दो साल की छोटी उम्र में ऑटिज्म स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर और डिले इन स्पीच का पता चलने के बाद से इस चैंपियन ने एक लंबा सफर तय किया है। जिया राय के पिता मदन राय ने बताया कि जिया प्रतिभावान है। हमें उससे काफी उम्मीद है। आज वह इस उम्मीद के साथ उतरेगी कि पूर्व में बनाये गए अपने विश्व रिकार्ड को तोड़ नया कीर्तिमान स्थापित करे।

BY Ran vijay singh



Advertisement