नये साल में संविदा पर तैनात एएनएम के लिए बड़ी खुशखबरी, अब सभी को मिलेगी मनचाही तैनाती

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में नेशनल हेल्थ मिशन (एनएचएम) के तहत संविदा पर तैनात एएनएम (ANM) को मनचाही तैनाती मिलेगी। वरीयता के आधार पर एएनएम को गृह जनपद में तैनाती भी मिल सकती है। एएनएम संविदा संघ की मांग पर शासन ने परिवार कल्याण विभाग को पत्र लिखा है। प्रदेश में एनएचएम के तहत 70 हजार से ज्यादा संविदा कर्मचारी अलग-अलग संवर्गों में तैनात हैं। इनमें करीब 18 हजार एएनएम भी हैं। अभी तक एएनएम को प्रदेश के किसी भी हिस्से में खाली जगहों पर तैनात किया जा रहा है। घर से दूर होने के चलते एएनएम को नौकरी करने में अड़चन आ रही है।

मुख्यमंत्री को सौंपा पत्र

एएनएम संघ की प्रदेश संयोजिका प्रेमलता पांडेय लंबे समय से मनचाही तैनाती की मांग उठा रही थीं, ताकि एएनएम को उनके गृह जनपद में तैनाती मिल सके। संघ ने मांग पत्र मुख्यमंत्री को सौंपा भी है। वहां से पत्र स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव को भेजा गया। प्रमुख सचिव ने परिवार कल्याण विभाग के महानिदेशक को पत्र भेजकर उचित कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

गृह जनपद में तैनाती की मांग

परिवार कल्याण विभाग के महानिदेशक के मुताबिक एनएचएम के तहत एएनएम की संविदा पर तैनाती की गई है। लिहाजा वहीं से फैसला होगा। इस बारे में परिवार कल्याण विभाग के महानिदेशक ने 30 दिसंबर को एनएचएम की मिशन निदेशक को पत्र लिखकर नियम के मुताबिक कार्रवाई की बात कही है। संघ का कहना है कि गृह जनपद से दूर तैनाती मिलने की वजह से महिलाएं ठीक से काम नहीं कर पा रही हैं। असुरक्षा की भावना भी रहती है। गृह जनपद में तैनाती से योजनाओं को लोगों तक पहुंचाने में ज्यादा मदद मिलेगी। साथ ही काम करने में भी सहूलियत रहेगी।

यह भी पढ़ें: 25 हजार महीने की कमाई वालों को पौने पांच लाख रुपये में मिलेगा नया मकान, एक साल में बनकर होगा तैयार