अब गुरूजी नहीं कर सकेंगे मनमानी, सेल्फी खींच एप पर लगानी होगी हाजिरी

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. अक्सर विद्यालय छोड़कर गायब रहने वाले शिक्षकों की मनमानी पर सरकार ने रोक लगाने का फैसला किया है। आगामी सत्र में अगर गुरूजी बिना अवकाश लिए स्कूल से गायब हुए तो पकड़े जाएंगे। कारण कि अब जिले के सभी परिषदीय विद्यालय गूगल पर सर्च किये जा सकेंगे। स्कूलों में शत प्रतिशत प्रेरणा एप प्रभावी होगा। विद्यालय पहुंचने पर शिक्षक को सेल्फी लेकर इस एप के माध्यम से उपस्थिति दर्ज करनी होगी। इसके लिए सभी विद्यालयों की प्रेरणा पोर्टल के माध्यम से जियो टैगिंग करायी जा रही है।

बता दें कि जिले में 2702 परिषदीय विद्यालय है। इसमें 1737 प्राथमिक, 481 कंपोजिट व 484 उच्च प्राथमिक विद्यालय हैं। परिषदीय विद्यालयों को गूगल सर्च पर दिखाने के लिए प्रेरणा पोर्टल के माध्यम से जियो टैगिंग कराई जा रही है।

शासन ने दूसरे चरण के कायाकल्प अभियान में स्कूलों के जियो फेसिंग का डाटा लेना अनिवार्य किया है। इसके लिए प्रेरणा के नए वर्जन में संशोधन भी किया गया है। एप में जियो टैगिंग का ऑप्शन जोड़ा गया है। जियो टैगिंग हो जाने पर गूगल पर सर्च करने पर विद्यालयों की लोकेशन पता लग सकेगी।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अम्बरीष कुमार ने बताया कि प्रेरणा पोर्टल पर ऑनलाइन डाटा फीड करने के साथ ही जियो टैगिंग का भी ऑप्शन दिया गया है। कई विद्यालयों को जियो टैग कर दिया गया है। कुछ बाकी है तो उसे भी कर दिया जाएगा। जियो टैग होने से पारदर्शिता बढ़ेगी।

उन्होंने बताया कि नई व्यवस्था में कोई शिक्षक स्कूल जाने में लापरवाही नहीं कर पाएगा। नए सत्र में शिक्षकों को विद्यालय में खड़े होकर दो बार सेल्फी के साथ अपनी हाजिरी इस एप पर लगानी होगी। सभी स्कूलों के प्रधानाध्यापकों को टैबलेट देने के लिए शासन ने मंजूरी दे दी है। जल्द ही उन्हें टैबलेट मुहैया करा दिया जाएगा।

BY Ran vijay singh



Advertisement