राजस्थान बीजेपी में मची खींचतान : पूर्व मूख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया के बाद, बीजेपी के इस बड़े नेता ने खोला मोर्चा

राजस्थान की सियासत में आये दिन नया भूचाल आता रहता है. अभी तक कांग्रेस पार्टी में कुछ भी ठीक नही चल रहा है. पिछले कई वक्त से अशोक गहलोत और सचिन पायलेट के बीच खींचतान जारी है. लेकिन इन सबके बीच अब बीजेपी खेमें से एक बड़ी खबर आ रही है. कुछ दिन पहले बीजेपी चीफ नड्डा ने राजस्थान के कई बड़े नेता को दिल्ली तलब किया था. लेकिन उसमें पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को नही बुलाया गया था. जिसके बाद कयासों का बाज़ार काफी गर्म हो गया था.

राजस्थान में बीजेपी के अंदर खेमेबंदी की खबरे बहुत तेज़ी आ रही है. जिसके बाद कयासों का बज़ार गर्म होता जा रहा है. अभी राजे खेमे के कुछ लोगों ने मोर्चा खोल दिया था और अब राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष सतीश पुनिया को लेकर ये खबर आ रही है. टीम वसुंधरा के बाद अब सोशल मीडिया में टीम सतीश पूनिया का पत्र भी वायरल हो रहा है.

इस वायरल पत्र में जुगल किशोर शर्मा को इस मोर्चे का प्रदेश अध्यक्ष बताया गया है. वायरल पत्र में प्रदेश प्रभारी, सचिव, मीडिया प्रभारी और उपाध्यक्ष के पदों की नियुक्तियां भी दर्शायी गई हैं. नियुक्ति-पत्र पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया की फोटो लगी है. जब ये मसला तूल पकड़ता दिखा तो इस पर सतीश पुनिया ने इसे सिरे से खारिज कर दिया है. उन्होंने मामले की जांच कराने के साथ ही कानूनी राय लेने की भी बात कही है. दूसरी तरफ बीजेपी में मचे इस बवाल पर अब कांग्रेस को हमलावर होने का मौका मिल गया है.

इसे पूरे मामले को लेकर सतीश पूनिया ने अपनी ओर से दी गई सफाई में कहा कि ‘राजनीति में काम करते हुए कई बार कई अजूबे होते हैं. उन्होंने कहा जिन्होंने मेरे नाम से समर्थक मोर्चा बनाया है वे लोग कौन हैं यह अभी पता नहीं है. वे मेरे से परिचित नहीं हैं. वे इस तरह के मोर्चों के पक्ष में भी नहीं हैं, क्योंकि पार्टी में हम लोग बड़े बैनर के नीचे काम करते हैं.’



Advertisement