अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए राजा भैया ने बनाया रिकॉर्ड, सभी को छोड़ा पीछे, दान किये इतने करोड़ रुपये

प्रतापगढ़. अयोध्या में बन रहे भव्य और दिव्य राम मंदिर निर्माण (Ayodhya Ram Mandir) के लिए निधि समर्पण अभियान पूरे उत्तर प्रदेश में जारी है। इसी कड़ी में प्रतापगढ़ के कुंडा से बाहुबली विधायक रघुराज प्रताप सिंह (Raghuraj Pratap Singh) उर्फ राजा भैया (Raja Bhaiya) और उनके समर्थकों ने सभी को पीछे छोड़ते हुए राम मंदिर निर्माण के लिए रिकॉर्ड 4 से 5 करोड़ की धनराशि का दान किया है। इस दौरान कुंडा के बेती कोठी में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय भी मौजूद रहे।

राजा भैया ने दान किये करोड़ों

प्रतापगढ़ की बेती कोठी में राम मंदिर के लिए होने वाले महादान के लिए कैम्प लगाया गया। जहां राजा भैया के हजारों सर्मथकों ने पहुंच कर राम मंदिर निर्माण के लिए महादान किया। जानकारी के मुताबिक राजा भैया ने भी गुप्त करोड़ों की बड़ी धनराशि का दान किया है, जबकि जनसत्ता दल लोकतांत्रिक दल के नेताओं ने भी इस महादान के कार्य्रकम में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया और काफी दान किया है। पूर्व मंत्री राजा भैया के चचेरे भाई और एमएलसी अक्षय प्रताप ने भी करोड़ों की धनराशि दान करने का दावा किया है।

दान की गई धनराशि को रखा गुप्त

एमएलसी अक्षय प्रताप उर्फ गोपाल ने बताया कि राम मंदिर निर्माण के लिए दान की गई धन राशि को गुप्त रखा गया है। उन्होंने दावा किया कि 4 से 5 करोड़ की धनराशि राम मंदिर निर्माण में दान की गई है। राजा भैया समेत उनके समर्थकों ने भी अच्छा दान किया है। एमएलसी अक्षय प्रताप ने बताया कि राजा भैया हमेशा से ही जनसरोकार के कार्यो में बढ़ कर हिस्सा लेते रहे हैं।

चलाया जा रहा अभियान

आपको बता दें कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट अयोध्या में भव्य मंदिर के निर्माण के लिए जन संपर्क और योगदान अभियान चला रहा है, जो 27 फरवरी, 2021 तक चलाया जाएगा। अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए दान राशि एकत्रित करने के अभियान की शुरुआत हाल ही में की गई है। इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में राममंदिर के निर्माण के लिए 2 लाख रुपये का दान दिया था। इसी प्रकार हर क्षेत्र में राम मंदिर निर्माण के लिए लोग ज्यादा से ज्याद दान दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें: ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वालों के लिए बड़ी खबर, 1 फरवरी से नया नियम होगा लागू, अब ऐसे बनेगा नया डीएल