पत्नी की हत्या के बाद पति ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, विवाहिता के मायके वालों ने लगाया यह आरोप

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
फर्रुखाबाद. जिले के थाना नवाबगंज क्षेत्र के गांव बघौना में एक दंपति के बीच आए दिन होने वाले झगड़े का अंत दोनों की मौत के साथ हुआ। सुबह जब बच्चे जागे तो मां को लहूलुहान हालत में पड़ा पाया तो पिता को फांसी के फंदे से लटकते देखा। दोनों की सांसें थम चुकी थी। वहीं विवाहिता के मायके वालों का आरोप है कि दामाद ने बेटी की गोली मारकर हत्या करने के बाद खुद भी फांसी लगा ली है और पुलिस भी यही मान रही है। युवक के घरवालों का कहना है कि रात में न तो झगड़े की आवाज सुनी और न ही गोली चलने की। वहीं सूचना पर पहुंची पुलिस को मौके से असलहा बरामद नहीं हुआ है।

पुलिस के मुताबिक 32 वर्षीय सत्येंद्र कुमार पाल का रात 28 वर्षीय पत्नी रिंकी देवी से विवाद हो गया। सत्येंद्र ने रिंकी की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद कमरे की छत के कुंडे में दुपट्टे के फंदे से लटककर फांसी लगा ली। सुबह 6 वर्षीय पुत्र आयुष 3 वर्ष पुत्र अंकुर कुमार ने जागने पर मां और पिता को मृत पाया। तो बच्चों ने बाहर आकर बरामदे में लेटे बाबा यदुवीर पाल और दादी सुधा देवी को सूचना दी। यदुवीर सिंह और सुधा देवी बहू और बेटे के सब देखकर बिलखने लगे एक साथ दो सब देखकर ग्रामीणों की भी मौके पर भीड़ जमा हो गई।

सूचना मिलने पर बबना चौकी प्रभारी विनोद कुमार, हल्का इंचार्ज नितिन कुमार और उप निरीक्षक आशू कुमार मौके पर पहुंचे। वहीं थाना मेरापुर के गांव महमदपुर कुरार निवासी मृतका रिंकी के पिता हुकुम सिंह को घटना की सूचना दी गई रिंकी के भाई अभिषेक कुमार, मां विनीता देवी, चाचा दीप सिंह सहित अन्य परिजन सहित गांव पहुंच गए। सूचना पर क्षेत्राधिकारी मोहम्मदाबाद सोहराब आलम और थाना प्रभारी पूनम जादौन ने पहुंचकर मामले की छानबीन की यदुवीर सिंह ने बताया कि शाम को पुत्र व पुत्र वधू अंदर कमरे में सो रहे थे। दोनों बच्चे हमारे साथ बाहर सो रहे थे। दोनों में हुए विवाद की जानकारी नहीं है न गोली चलने की आवाज सुनी थी।



Advertisement