यूपी में चरम पर है भ्रष्टाचर, आम आदमी का खुलेआम दमन कर रही सरकार

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. मिशन-2022 के तहत लगातार पूर्वांचल को साधने में जुटे बसपा के प्रदेश अध्यक्ष भीम राजभर ने सरकार पर हमला तेज कर दिया है। पिछले एक पखवारे में अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में चैथे कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे भीम राजभर ने यूपी सरकार पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने तथा आम आदमी के दमन का आरोप लगाया। उन्होंने दावा किया कि बसपा राजनीतिक दल नहीं बल्कि एक मिशन है और सर्व समाज के लिए काम करती है। उन्होंने पार्टी मुखिया मायावती को 2022 में पांचवीं बार मुख्यमंत्री बनाने का अह्वान किया।

मुबारकपुर विधानसभा के सठियांव ब्लाक के अवांव में आयोजित सामाजिक भाईचारा कैडर कैंप को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि बसपा सर्व समाज की पार्टी है। बसपा पार्टी नहीं बल्कि एक मिशन है, जो बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर और कांशीराम के मिशन को साकार करती है।

उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। अधिकारी-कर्मचारी लूट खसोट में लगे हैं। गरीब, बुनकर, मजदूर, किसान की कोई सुनने वाला नहीं है। भाजपा सरकार किसान विरोधी है। कई दिनों से किसान मांगों को लेकर सड़कों पर है। उनकी बातें सुनने के बजाय उनकी आवाज दमनकारी नीतियों से दबाने की कोशिश की जा रही हैं।

उन्होंने कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से आह्वान किया कि आगामी चुनाव के लिए अभी से तैयार हो जाएं। कैडर को मजबूत करने के लिए मेहनत करनी होगी। अध्यक्षता कर रहे विधायक मुबारकपुर शाह आलम गुड्डू जमाली ने कहा की समता मूलक समाज बनाने के लिए बसपा की सरकार जरूरी है। बहन मायावती ने सभी समाज को सबसे ज्यादा सम्मान दिया। बुनकर बेरोजगारी के कगार पर है। खाद और बीज महंगा हो गया है। नहरों में समय से पानी नहीं आ रहा है। गरीब किसान अपनी खेतों की सिंचाई कैसे करे? उसके पास महंगा सामान खरीदने के लिए पैसे नहीं है।

मुख्य सेक्टर प्रभारी अरुण पाठक ने कहा कि पूर्ण रूप से सर्वसमाज बसपा के लोग 2022 में बसपा के साथ है। इस मौके पर सुरेंद्र राजभर, विनोद चैहान, जिलाध्यक्ष अरविन्द कुमार, मिट्ठू राजभार, रामप्रसाद चैधरी ने भी संबोधित किया। सपा और भाजपा छोड़ कर महेंदर मौर्या, रवि चैहान आदि ने बसपा की सदस्यता ली।

संचालन श्रीकृष्ण राम शास्त्री और श्रीराम ने किया। इस मौके पर माधव राजभर, सीताराम राजभर, जयराम राजभर, पवन राजभर, कलपु राजभर, गणेश राजभर, डॉ. विनय राम, हरी प्रकाश राय, शाह आलम, नोमान प्रधान, आजम नाऊ, आदिल प्रधान, गुड्डू, रिंकू, सिकंदर चैहान, हबीबुर्रहमान, मसलहुद्दीन आदि मौजूद थे।

BY Ran vijay singh



Advertisement