प्रेमिका को बाजार में बुला किया अपहरण, फिर आठ साथियों के साथ मिलकर किया गैंगरेप

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़ बरदह थाना क्षेत्र में एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। क्षेत्र की एक युवती को प्रेमी ने कपड़ा खरीदने के लिए बजार बुलाया फिर उसका अपहरण कर जौनपुर ले गया। वहां अपने आठ साथियों के साथ मिलकर युवती से गैंगरेप किया। घटना के बाद पीड़िता की मां ने तहरीर दी, लेकिन सात दिन बाद भी आरोपितों की गिरफ्तारी तो दूर पुलिस ने मुकदमा भी दर्ज नहीं किया। पुलिस दावा कर रही है घटना जौनपुर में हुई है। इसलिए कार्रवाई भी वहीं होनी चाहिए।

बरदह थाना क्षेत्र की रहने वाली 18 वर्षीय युवती का जिले के सीमावर्ती गांव के रहने वाले युवक से प्रेम प्रपंच चल रहा था। पीड़ित युवती का आरोप है कि 01 जनवरी को पूर्वांह्न करीब 11 बजे प्रेमी ने फोनकर उसे कपड़ा दिलाने के बहाने बरदह बाजार में बुलाया। वह बरदह बाजार के समीप पहुंची थी तभी प्रेमी अपने साथियों के साथ पहुंचा और जबरदस्ती उसे चार पहिया वाहन में बैठा लिया। विरोध करने पर उसने मारापीटा और जान से मारने की धमकी दी।

प्रेमी और उसके साथी उसे जौनपुर जिले के गौरा बादशाहपुर थाना क्षेत्र के चैकी गांव लेकर गए। उसे एक कमरे में बंद कर आठ युवकों ने मारपीट कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इतना ही नहीं उन्होंने अपने मोबाइल से पूरी घटना की वीडियो भी बनाया। दुष्कर्म के बाद युवकों ने उसे धमकी दी कि अगर किसी को भी घटना के बारे में बताया तो उसका वीडियो वायरल कर दिया जाएगा। पीड़ित युवती युवकों के चंगुल से छूटकर घर आई तो मां से आपबीती बताई।

इसके बाद 02 जनवरी को पीड़ित युवती और उसकी मां थाने पहुंची तथा आरोपित युवकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए तहरीर दी। उस समय पुलिस ने पीड़िता को कार्रवाई का आश्वासन दिया लेकिन प्राथमिकी दर्ज नहीं की। युवती और उसका परिवार थाने का चक्कर काट रहा है। इस मामले में थानाध्यक्ष बरदह विनोद कुमार का कहना है कि युवती का अपहरण नहीं हुआ था। वह स्वयं अपने एक परिचित युवक के साथ बाइक से गौरा बादशाहपुर गई थी। जिस जगह उसके साथ सामुहिक दुष्कर्म हुआ वह जौनपुर जनपद के गौरा बादशाहपुर थाना क्षेत्र में आता है।

BY Ran vijay singh



Advertisement