किसान की आत्महत्या पर भौचक्के अखिलेश यादव का भाजपा पर प्रहार कहा, शहादत भी भाजपा को विचलित नहीं कर सकी

लखनऊ. नए कृषि कानूनों के विरोध में यूपी नई दिल्ली ग़ाज़ीपुर बार्डर पर किसान आंदोलन का शनिवार को 38वां दिन है। कड़ी ठंड और बारिश के बीच किसान आंदोलन पर चिंता व्यक्त करते हुए समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने भाजपा पर प्रहार किया कहाकि, एक किसान की शहादत की खबर भाजपा को विचलित नहीं कर सकी। भाजपा जैसा सत्ता का इतना दंभ व इतनी निष्ठुरता अब तक कभी नहीं देखी गयी।

UP Top News : यूपी के राज्य कर्मचारियों व पेंशन भोगियों के लिए खुशखबरी, मिलेगा 24 प्रतिशत डीए

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव शनिवार को टि्वटर पर लिखा कि, नव वर्ष के पहले दिन ही किसान आंदोलन में ग़ाज़ीपुर बार्डर पर एक किसान की शहादत की ख़बर विचलित करनेवाली है। घने कोहरे व ठंड में किसान लगातार अपने जीवन का बलिदान कर रहे हैं लेकिन सत्ताधारी हृदयहीन बने बैठे हैं। भाजपा जैसा सत्ता का इतना दंभ व इतनी निष्ठुरता अब तक कभी नहीं देखी गयी।

किसान कश्मीर सिंह ने की आत्महत्या :- किसानों के विरोध के बीच शनिवार को दिल्ली सीमा के गाजीपुर बॉर्डर पर एक किसान कश्मीर सिंह ने धरनास्थल पर बने एक शौचालय में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। किसान कश्मीर सिंह ने आत्महत्या से पहले एक कथित सुुसाइड नोट छोड़ा है जिसमें उन्होंने लिखा कि उनकी शहादत बेकार न जाए।