UP Panchayat election: पंचायती राज मंत्री का ऐलान आज से खत्म हो जायेगा इन अध्यक्षों और जिला पंचायत का कार्यकाल, जानिये क्या है वजह?

इस समय देश के अंदर इलेक्शन का माहौल चल रहा है. हर तरफ इलेक्शन हैं. कल हिमाचल प्रदेश के नगर निकाय चुनाव का परिणाम आया है और दूसरी तरफ यूपी में पंचायत चुनाव होने वाले है. इतना ही नही बंगाल में भी इसी साल मई तक विधानसभा चुनाव भी होने की उम्मीद है. अब यूपी के पंचायत चुनाव की बात करें तो इस चुनाव से ये कयास लगाये जा रहे है कि 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी के लिए ये पंचायत चुनाव सेमीफाइनल की तरह है. इन सबके बीच पंचायत चुनाव को लेकर योगी सरकार ने कुछ गाइडलाइनस जारी कर दी हैं.

अब पंचायत चुनाव को लेकर एक औऱ खबर आ रही है कि आज रात से यानी की 13 जनवरी से जिला अध्यक्षों का कार्यकाल खत्म हो रहा है. इसके बाद जिला पंचायत अध्यक्षों का अधिकार प्रशासन के हाथ में आ जाएगा. बता दें कि अभी तक पंचायत चुनाव की तारीखो को ऐलान नही हुआ है. लेकिन कयास ये लगाये जा रहे हैं कि 15 से 30 मार्च हो सकते हैं. इसके परिणाम आने के 21 दिन बाद जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत के चुनाव कराये जायगें.

पंचायती चुनाव को लेकर पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया कि ‘प्रत्यासियों के वोट डलवाए जाएंगे. एक बॉक्स में ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत सदस्य के वोट होंगे तो दूसरे में क्षेत्र और जिला पंचायत सदस्यों के वोट होंगे. इस तरह से दो बॉक्स में चार पदों के प्रत्याशियों का भविष्य कैद होगा. चुनाव की तारीख अभी घोषित नहीं हुई है, लेकिन पंचायती राज मंत्री कहते हैं कि मई तक सभी चुनाव हो जाएंगे. 13 जनवरी की आधी रात के बाद जिला पंचायतों में जिलाधिकारी प्रशासक बन जाएंगे. जिला पंचायत अध्यक्षों का बीता कार्यकाल उठापटक वाला रहा. सियासी दावपेंच मे 6 जिला पंचायत अध्यक्षों को त्यागपत्र देने पड़े.’



Advertisement