बर्फीली और पछुआ हवाओं से लोग घरों में कैद, UP के इस जिले में शिमला से भी नीचे पहुंचा पारा

मेरठ. पश्चिम उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में रविवार से बर्फीली और पछुआ हवाओं से सड़कें सूनी पड़ी है और लोग घराें में कैद हो गए हैं। वहीं, शीतलहर के चलते मेरठ का अधिकतम तापमान शिमला से भी नीचे चला गया है। इस सर्दी के मौसम में पिछले 15 दिनों में यह दूसरी बार है, जब मेरठ शिमला से अधिक ठंडा हुआ है। गत रविवार को शिमला का अधिकतम तापमान 15 डिग्री रिकार्ड किया गया। जबकि मेरठ का तापमान 13-14 डिग्री के बीच रहा। पश्चिम उत्तर प्रदेश के जिले खासकर मेरठ, मुजफ्फरनगर और सहारनपुर इस समय जबरदस्त ठंड की चपेट में हैं। इन जिलों में 13 किलोमीटर की रफ्तार से बर्फीली और पछुआ हवाएं चल रही हैं।

यह भी पढ़ें- हिमाचल से लेकर वेस्ट तक कोल्ड वेव, पारा हुआ धड़ा माैसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

वेस्ट यूपी के ज्यादातर जिलों में जहां लोगों ने बारिश के बाद ठंड से राहत महसूस की थी, वहीं अब लोगों को शीतलहर का सामना करना पड़ रहा है। जबकि प्रदेश के अन्य जिलों में इस समय कोहरा कहर बरपा रहा है। घने कोहरे के चलते लोगों को आवागमन में परेशानी हो रही है। मौसम विभाग ने कुछ इलाकों में भारी बारिश कि चेतावनी दी है। बता दें कि जम्मू-कश्मीर और हिमाचल में भारी बर्फबारी जारी है। पहाड़ी इलाकों में हो रही बर्फबारी ने मौसम को और सर्द कर दिया है। इसके चलते ही मैदानी इलाकों में सर्द हवाएं चल रही हैं।

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक डाॅ. एन सुभाष ने बताया कि आज यानी सोमवार से लेकर अगले तीन दिन तक तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप में तेज तूफान के साथ बारिश का पूर्वानुमान है। तापमान गिरने के साथ ही शीतलहर का दौर और तेज होने की संभावना है। इस शीतलहर से 3 दिन तक राहत नहीं मिलेगी। पश्चिम यूपी में आज सुबह की शुरुआत कोहरे और ठंडी हवाओं के साथ हुई। यहां पर शीतलहर से अभी राहत मिलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। 13 जनवरी तक के लिए जारी किए मौसम के पूर्वानुमान में अगले तीन दिन तक तापमान सामान्य से 3 से 5 डिग्री सेल्सियस तक कम रहने की सम्भावना है।

यह भी पढ़ें- शीतल लहरों के बीच यूपी के इस शहर में लोगों को सता रहा बंदरों का डर



Advertisement