योगी सरकार का ऐलान, UPSC परीक्षा के टॉप-10 IAS, IPS के घरों तक बनेगी पक्की सड़क, संबंधित का विवरण देते हुए लगेगा बोर्ड

लखनऊ. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल परीक्षा में सफलता प्राप्त करने वाले राज्य के टॉप-10 भारतीय प्रशासनिक और पुलिस सेवा युवाओं के घरों तक मजबूत सड़क बनाई जाएगी। जिनके घरों के बाहर सड़क बनी है उनमें सुदृढ़ीकृत का कार्य कराया जाएगा। यह कहना है उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का। गुरुवार को अपने सरकारी आवास पर लोक निर्माण विभाग की आयोजित उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता के दौरान उन्होंने ये बात कही।

संबंधित का विवरण करते हुए लगाया जाएगा बोर्ड

मौर्य ने कहा कि जहां सड़क बनेगी वहां संबंधित छात्र या छात्रा का विवरण देते हुए बोर्ड लगाया जाएगा। इससे उनकी प्रतिभा का सम्मान होगा और इसके साथ ही अन्य छात्रों के लिए ये प्रेरणादायी बनेगा। वहां के छात्र/छात्राओं में आईएएस परीक्षा में प्रतिभाग करने व सफलता प्राप्त करने के लिये एक नई ऊर्जा का संचार होगा।

इसके अलावा मौर्य ने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये कि जो बजट आवंटित किया गया है, उसका समय से सदुपयोग किया जाना हर हाल में जरूरी है। पूवार्न्चल विकास निधि व बुन्देलखण्ड विकास निधि के कार्य तेजी से कराये जाए। उन्होंने कहा कि जोन, सर्किल व खण्डवार व्यय की गयी धनराशि की रैंकिंग करायी जाए और जिन तीन जोनों, सर्किलों व खण्डों में व्यय में लापरवाही की गयी हो, उनसे सम्बन्धित अधिकारियों/कर्मचारियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाए। उन्होंने ये भी कहा कि 250 की आबादी के जो गांव किसी भी योजना से सड़कों से जुड़ गये हैं वहां सड़कों की देखरेख की जाये और बचे गांवों में सड़के बनाई जायें।

ये भी पढ़ें: यूपी में वाहन चालकों को बड़ी राहत, फास्टैग अनिवार्यता की बड़ी डेडलाइन, 15 फरवरी तक टोल नहीं लिया जाएगा कैश