Weather Alert: कई घंटों से हो रही बारिश से ठंड का कहर, इन जिलों में लगातार तीन दिन बरसेंगे बादल

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। नए वर्ष का आगाज पहले तो आसमान में छाए बादलों ने किया। उसके बाद अब बारिश और शीतलहर कहर बरपा रही है। इस समय पूरे पश्चिम यूपी में जबरदस्त बारिश और शीतलहर का कहर है। मेरठ, नोएडा, हापुड, बुलंदशहर, गाजियाबाद, बागपत, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, देवबंद और सहारनपुर में जोरदार बारिश जारी है। मेरठ और नोएडा व गाजियाबाद में रविवार सुबह 4 बजे से रूक-रूककर हो रही बारिश से जहां लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो वहीं बिजली कटौती ने भी कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी। बारिश, शीत लहर और बिजली कटौती से जिंदगी की रफ्तार थम गई है। मौसम विभाग ने आगे भी तीन दिन इसी तरह से बारिश की संभावना व्यक्त की है।

यह भी देखें: ठंड से सड़कों पर लॉकडाउन के दिनों जैसे हालात

मौसम विभाग की मानें तो वेस्टर्न डिस्टबेंस के कारण बारिश के हालात बने हुए हैं। मौसम वैज्ञानिक डा. एन सुभाष ने बताया कि बारिश के बाद तेजी से तापमान बढेगा और अधिकतम तापमान 24-25 डिग्री तक पहुंचेगा। जबकि न्यूनतम तापमान भी 11-12 डिग्री तक जाएगा। उसके बाद फिर से बारिश होगी। बारिश के चलते शीतलहर का प्रकोप भी अपना खास असर दिखाएगा। वहीं रविवार की सुबह से हो रही तेज बरसात के चलते नमी बढ़ गई। हवाएं भी ठंडी चलने लगी। लोगों को ठंड से बचाव के लिए गर्म कपड़ों के अलावा बारिश से बचने के लिए रेनकोट और छाता का उपयोग करते देखा गया। सुबह से ही आसमान में छाए काले बादलों की वजह से दिन में अंधेरा छा गया। सड़कों पर चलने वाले वाहनों को हेडलाइड जलानी पड़ी।

यह भी पढ़ें: नए साल से बाजारों में साप्ताहिक बंदी हुई लागू, तीन दिन बंद रहेंगी दुकानें

मौसम विभाग के अनुसार दिन में कई बार रूक-रूककर बारिश होने की संभावना है। मौसम में हुए अचानक बदलाव के बाद जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मौसम के परिवर्तन से सेहत पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। वहीं तीन दिन से हो रही रुक-रुक कर बारिश से लोगों की दिनचर्चा बिगड़ गई है। बारिश और ठंड के कारण लोग घरों में ही दुबके रहे। जिससे सामान्य जन-जीवन प्रभावित हो रहा है। दूसरी ओर बारिश और आसमान में छाए बादलों की वजह से चना और अरहर की फसल को नुकसान हो रहा है। पूरे पश्चिम उप्र में अचानक बारिश शुरू हो जाने के बाद जहां तापमान में काफी कमी आई है तो वहीं ठिठुरन भी बढ़ गई है। पूरा वेस्ट शीतलहर की चपेट में आ गया है।



Advertisement