Weather Updates: बर्फीली हवाओं से UP में बढ़ी ठिठुरन, इन जिलों में 5 डिग्री से नीचे पहुंचा पारा

मेरठ. शीत लहर (Cold Waves) के साथ यूपी के जिलों में कोहरा (Fog) सितम ठहा रहा है। मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के दिन मेरठ समेत यूपी के कई जिले जबरदस्त कोहरे की चपेट में रहे। वहीं, मेरठ, आगरा, बरेली, मुजफ्फरनगर, अलीगढ़, हरदोई, कानपुर शहर और लखनऊ में बुधवार को न्यूनतम तापमान 5 डिग्री से 3 डिग्री के करीब पहुंच गया। कोहरे ने जहां वाहनों की रफ्तार पर असर डाला है। वहीं पारा गिरने से आम जनजीवन प्रभावित हुआ है। इसके साथ ही मौसम विभाग ने गुरुवार को भी घने कोहरे और शीतलहर की चेतावनी जारी की है।

यह भी पढ़ें- मौसम विभाग का अलर्ट, यूपी के इन जिलों में चलेगी जबरदस्त शीतलहर, जमा देगी जीरो डिग्री वाली खतरनाक ठंड

24 घंटे में और अधिक बढ़ेगी ठंड

दिन और रात के तापमान में निरंतर गिरावट दर्ज हुई है। मौसम वैज्ञानिक डॉ. एन सुभाष के अनुसार 24 घंटे में पारा और गिरने की संभावना है। जबकि एक सप्ताह तक घना कोहरा छाया रहेगा। मौसम वैधशाला पर गुरुवार को सुबह का अधिकतम तापमान 13.3 डिग्री सेल्सियस एवं न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। अधिकतम आर्द्रता 98 और न्यूनतम आर्द्रता 81 प्रतिशत दर्ज की गई। हवा का रुख पूरी तरह शांत रहा, जिसके चलते कोहरा आफत पैदा कर रहा है।

प्रदूषण के स्तर में कमी आई

मौसम विभाग ने एक सप्ताह तक घने कोहरे की संभावना जताई है। बता दें कि महानगर में लगातार प्रदूषण का प्रकोप बढ़ रहा था, जिसके चलते महानगर का एक्यूआई स्तर 300 पार पहुंच रहा था, लेकिन गत सप्ताह तक रुक-रुक कर हुई बारिश ने महानगर के प्रदूषण के स्तर पर काफी हद तक रोक लगाई थी, जो कण आसमान में थे। वह बारिश के कारण धुल गए हैं, जिसके चलते प्रदूषण के स्तर में कमी आई है।

प्रदूषण विभाग द्वारा महानगर में तीन स्थानों पर एक्यूआई मापने के लिए सिस्टम लगा रखे है। उसके मुताबिक गंगानगर में 120 पल्लवपुरम में 252 और जय भीम नगर में 228 स्तर पाया गया है। अगर महानगर का एक्यूआई स्तर देखा जाए तो वह 300 है, जो महानगर के प्रदूषण के लिए बेहतर और मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए घातक है। प्रदूषण में तेजी से सर्दी का एहसास भी महानगर में बढ़ा है।

यह भी पढ़ें- Covid New Strain: भारत में तेजी से बढ़ रहा कोरोना का नया स्ट्रेन, इस शहर में मिले सबसे अधिक केस



Advertisement