पुलवामा ह’म’ले की दूसरी बरसी: आ’त्म’घा’ती हमले में शहीद हुए थे 40 जवान, भारत ने दिया था ऐसा जवाब जिससे कांप उठता है पाकिस्तान

आज पूरी दुनिया में 14 फरवरी का दिन यूं तो वैलेंटाइन डे के तौर पर मनाया जाता है, लेकिन हिंदुस्तान के इतिहास में यह दिन ब्लैक डे के रूप में याद किया जाता है. चूंकि 2019 में इंसानियत के दुश्मनों ने आज के ही दिन अपने नापाक इरादों को अंजाम दिया था. दो साल पहले 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर से एक दुखद खबर आई थी.

मालूम हो कि आ’तं’कि’यों ने देश के सुरक्षाकर्मियों पर कायराना हमला किया था. इस हमले में 40 CRPF जवान शहीद हो गए थे और कई अन्य बुरी तरह घायल हुए थे. दरअसल J&K के पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के एक आ’तं’क’वा’दी ने विस्फोटकों से लदे गाड़ी से CRPF जवानों की बस को टक्कर मार दी थी. इस टक्कर के बाद एक जोरदार ध’मा’का हुआ और उसके बाद का नजारा ऐसा था कि वो देखने के बाद किसी भी आंखों में पानी आ सकता था.

जहां एक तरफ देश वीर जवानों की शहादत से दु:खी था तो वहीं दूसरी तरफ देश बदले की आग में जल रहा था और पाकिस्तान की इस कायराना हरकत का मुंहतोड़ जवाब भी देना चाहता था. और जैसा सभी देशवासी चाहते थे भारत सरकार ने भी वैसा ही कुछ किया. बता दें कि भारत ने बदला लेने के लिए पाकिस्तान के बालाकोट स्ठित जैश कैंप पर महज 12 दिनों के अंदर ह’म’ला किया.

इस मिशन की पूरी जिम्मेदारी एयर फोर्स को दी गई. और देर रात 26 फरवरी को मिराज 2000 ने ग्वालियर से उड़ान भरी. जिसके बाद 12 मिराज विमान सुबह लगभग तीन बजे पाकिस्तानी सीमा में दाखिल हुए और बालाकोट में ब’म बरसाने शुरू कर दिए.और जब तक पाकिस्तान ऐक्टिव हुआ तब तक भारतीय वायु सेना अपना काम कर चुकी थी.

गौरतलब है कि वायुसेना के एक्शन में बालाकोट में मौजूद जैश ए मोहम्मद के ठिकाने पूरी तरह तबाह कर दिए गए थे. बता दें कि भारत की इस एयर स्ट्राइक में सैकड़ों आ’तं’कि’यों के मारे जाने का दावा किया गया.