अधिवक्ता सुसाइड केस में नामजद दादरी गांव के संजय का शव फंदे पर लटका मिला

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ (meerut news ) अधिवक्ता ओमकार तोमर के सुसाइड प्रकरण में देर रात और एक अहम घटना जुड़ गई। इस केस में नामजद आरोपी दादरी गांव के संजय मोतला का शव उसके ही खेत में मिला। आशंका है कि संजय ने आत्महत्या कर ली है।

यह भी पढ़ें: नाेएडा : पत्नी की हत्या करके पति ने लगाई फांसी

इस मामले में पुलिस लगातार नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही थी। इसी के चलते सभी आरोपी घर से गायब थे। इस मामले में आरोपी विधायक दिनेश खटीक के समर्थन में आए लोगों ने एडीजी से मिलकर मामले की जांच के बाद ही गिरफ्तारी की मांग की थी।

यह भी पढ़ें: बीमार महिला काे अस्पताल में छाेड़ गए रिश्तेदार, अंतिम संस्कार के लिए पुलिस लेकर पहुंची शव

बता दें की गंगा नगर निवासी वरिष्ठ अधिवक्ता ओमकार तोमर के बेटे का उसकी ससुराल वालों से विवाद चल रहा था। इस मामले में बीजेपी से हस्तिनापुर के विधायक दिनेश खटीक दोनों ओर से मध्यस्था कर रहे थे। आरोप है कि विधायक के अधिक दबाव डालने पर अधिवक्ता ओमकार तोमर मानसिक रूप से काफी परेशान हुए और उन्होंने घर में ही फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली थी।

यह भी पढ़ें: 25 फरवरी काे लगेगा राेजगार मेला, जुटेंगी दिग्गज कंपनियां

इसके बाद वकीलों ने जमकर हंगामा मचाया था जिसके बाद विधायक दिनेश खटीक सहित 14 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। बार एसोसिएशन ने चेतावनी दी थी कि नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी 17 फरवरी तक हो। इतना ही नहीं उन्हाेंने यह भी कहा कि अगर गिरफ्तारी नहीं होती है तो वकील हड़ताल कर देंगे। पुलिस भी वकीलों के दबाव में आकर नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही थी, इन्हीं नामजद आरोपियों में दादरी गांव के संजय मोतला भी शामिल थे।

यह भी पढ़ें: यूपी के रामपुर में 80 साल की बुजुर्ग महिला काे बेटे से जान का खतरा

बताया जाता है कि नामजदगी के बाद से संजय काफी परेशान थे। परिजनों के मुताबिक संजय देर रात घर से खेत पर गए थे। काफी देर बाद जब वो घर नहीं पहुंचे तो परिजनों को चिंता हुई। परिजन अन्य ग्रामीणों के साथ संजय को तलाशते खेत पर पहुंचे जहां संजय का शव फंदे से लटका हुआ मिला। इस घटना से हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने लाश का पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम को भेज दिया।