यूनिवर्सिटी में छात्राओं से मोबाइल नंबर मांग रहे फर्जी मीडियाकर्मी को धुनकर पुलिस को सौंपा

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी में छात्राओं के मोबाइल नंबर मांग रहे एक फर्जी मीडियाकर्मी को छात्रों ने पकड़ लिया। उसकी जब तलाशी ली गई तो उसके बैग से कई चैनलों की आईडी और कई प्रेसकार्ड के अलावा पिस्टल रखने वाला कवर भी बरामद हुआ। छात्रों ने इसकी जानकारी प्रो वीसी को दी, जिस पर यूूनवर्सिटी प्रशासन ने इसकी जानकारी मेडिकल पुलिस को दी। मौके पर पहुंची मेडिकल पुलिस फर्जी मीडियाकर्मी को थाने ले आई।

यह भी पढ़ें- लव-जिहाद पर विधेयक को विधान परिषद से मिली मंजूरी, सिर्फ राज्यपाल की मुहर लगनी बाकी

चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी में फर्जी पत्रकार शाकिल पुत्र जियाउद्दीन निवासी भवानी नगर थाना नौचंदी की पिटाई के बाद मेडिकल पुलिस को सौंपा है। फर्जी पत्रकार हिन्दू लड़कियों से नाम बदलकर बातें कर रहा था। पुलिस ने जब शाकिल के बैग की तलाशी ली तो बैग से पीएम मोदी गिफ्ट मोबाइल, पिस्टल का खाली कवर, प्रेस आई कार्ड बरामद हुआ है। वहीं, दूसरा व्यक्ति भागने में कामयाब रहा, जिसका नाम अनस निवासी इस्लामाबाद है। बरामद प्रेस कार्ड पर मोहम्मद शयान सिद्दीकी लिखा हुआ है। इसको 2017 में सदर थाने की पुलिस ने भी फर्जी कार्य करने के जुर्म में जेल भेजा था। इसका खुलासा युवक ने स्वयं मेडिकल पुलिस के सामने किया है।

बताया जाता है कि युवक अलग-अलग टीवी चैनलों की आइडी लेकर यूनिवर्सिटी में रौब गालिब करने का काम करता था। पुलिस ने उसके अन्य साथियों की भी तलाश शुरू कर दी है। पकड़ा गया आरोपी चरण सिंह विवि में छात्राओं से मोबाइल नंबर मांग रहा था। शास्त्रीनगर के मनीष कुमार, मंगल पांडेय नगर के विशाल कुमार और गोविंदपुरी के मोहित समेत बड़ी संख्या में छात्रों ने विवि में शाकिल को पकड़ लिया। मेडिकल इंस्पेक्टर प्रमोद गौतम ने बताया कि आरोपी से पूछताछ में सामने आया कि रौब गालिब करने के लिए ही फर्जी मीडियाकर्मी बना हुआ था। आरोपी ने बताया कि उसके अन्य साथी भी यही काम कर रहे हैं। पुलिस ने आरोपी को साथ लेकर अन्य युवकों के घरों पर भी दबिश दी है।

यह भी पढ़ें- समाजवादी पार्टी के पूर्व सभासद के भाई की गोली मारकर हत्या, पत्नी ने चुनावी रंजिश को बताया वजह